Chhattisgarh News: पीसीसी डेलिगेट रामकुमार शुक्ला ने की भूपेश बघेल का टिकट बदलने की मांग, कांग्रेस अध्यक्ष को लिखी चिट्ठी

Chhattisgarh News: राजनांदगांव लोकसभा में आठ विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिसमे वर्तमान में कांग्रेस के पांच और भाजपा के तीन विधायक शामिल है. इस सीट से जहां पूर्व सीएम भूपेश बघेल अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है, तो वहीं भाजपा के वर्तमान सांसद और लोकसभा प्रत्याशी संतोष पांडेय भी मोदी की गारंटी के साथ आगे बढ़ रहे हैं.

Chhattisgarh News

पूर्व सीएम भूपेश बघेल(फाइल फोटो)

Chhattisgarh News: कांग्रेस ने राजनांदगांव लोकसभा सीट से पूर्व सीएम भूपेश बघेल को मैदान में उतारा है, वहीं बीजेपी ने वर्तमान सांसद संतोष पांडेय पर भरोसा जताया है. लेकिन इस सीट को लेकर उनके पार्टी के ही नेता और कार्यकर्ता उनके खिलाफ नजर आ रहे है. भूपेश बघेल राजनांदगांव लोकसभा सीट जीतने के लिए लगातार प्रचार कर रहे है, पर उनके ही पार्टी के नेता और कार्यकर्ता उनकी टिकट बदलने की मांग कर रहे है.

पीसीसी डेलिगेट रामकुमार शुक्ला ने कांग्रेस अध्यक्ष को लिखी चिट्ठी

राजनांदगांव लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व सीएम भूपेश बघेल के टिकट के खिलाफ पीसीसी डेलिगेट रामकुमार शुक्ला ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने महादेव ऐप मामले में FIR की वजह से टिकट बदलने की मांग की है. उन्होंने लिखा है कि कई IAS और कांग्रेस नेता भी भूपेश की वजह से जेल में है. इसलिए भूपेश बघेल के स्थान पर किसी स्थानीय नेता को टिकट मिलना चाहिए.

Chhattisgarh News

कांग्रेस अध्यक्ष को लिखी चिट्ठी

 

स्थानीय लोगों को प्रत्याशी बनाए जाने की उठ रही मांग

बता दें कि इसके पहले पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष और कांग्रेस नेता सुरेंद्र दास वैष्णव ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में स्थानीय लोगों (राजनांदगाव) को लोकसभा का प्रत्याशी बनाए जाने के संबंध में पत्र दिया था, जिसके बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है. सुरेन्द्र दास ने कहा है कि राजनांदगांव के कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर आलाकमान को विश्वास नहीं है, इसलिए दुर्ग से कार्यकर्ता ले आए.

ये भी पढ़ें – सीएम ने नारायणपुर जिले में जनसभा को किया संबोधित, बीजेपी प्रत्याशी महेश कश्यप के लिए मांगा वोट

कुछ दिनों पहले भरे मंच से सुनाई थी भूपेश बघेल को खरी-खोटी

बता दें कि ये वही सुरेंद्र दास वैष्णव हैं, जिन्होंने कुछ दिन पहले खुटेरी की सभा में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को जमकर खरी-खोटी सुनाई थी और कहा था कि 5 सालों तक हम अपने नेता को खोजते रहे और वह आज दिख रहे हैं. साथ ही यह भी कहा था कि 5 सालों में किसी भी कांग्रेस कार्यकर्ता का काम नहीं हुआ है. सुरेन्द्र दास वैष्णव के बयान के बाद राजनांदगांव में राजनीतिक सर गर्मी तेज हो गई है. राजनांदगांव प्रत्याशी बदले जाने को लेकर सुरेन्द्र दास वैष्णव ने कांग्रेस के आलाकमान को पत्र भी लिखा है. साथ ही स्थानीय नेता को प्रत्याशी बनाए जाने की मांग की है.

लोकसभा चुनाव में हाई प्रोफाइल सीट है राजनांदगांव

राजनादगांव लोकसभा सीट हमेशा से ही छत्तीसगढ़ सहित देश की सबसे हॉट सीट मानी जाती है. राजनांदगांव लोकसभा में आठ विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिसमे वर्तमान में कांग्रेस के पांच और भाजपा के तीन विधायक शामिल है. इस लोकसभा सीट से जहां पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है, तो वहीं भाजपा के वर्तमान सांसद और लोकसभा प्रत्याशी संतोष पांडेय भी मोदी की गारंटी के साथ आगे बढ़ रहे हैं. राजनंदगांव लोकसभा चूंकि 15 साल मुख्यमंत्री रहे डॉक्टर रमन सिंह का विधानसभा क्षेत्र और गृह जिला है. इस लिहाज से देखा जाए तो भाजपा पूरे जोड़-तोड़ से संतोष पांडे को जीताने में लगी है.

ज़रूर पढ़ें