Chhattisgarh: बिलासपुर में चला बुलडोजर, जमीनों की अवैध प्लाटिंग करने वाले 146 भू-स्वामियों पर कार्रवाई

Chhattisgarh: कलेक्टर और SDM का कहना है कि यदि जमीन मालिकों ने सही तरीके से दस्तावेजी जानकारी नहीं दी, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी.

Chhattisgarh news

बुलडोजर एक्शन

Chhattisgarh: बिलासपुर शहर और इसके आसपास जमीन माफिया बड़े पैमाने पर अवैध प्लाटिंग कर रहे हैं. जिला प्रशासन ने सिर्फ तखतपुर अनुभाग के 14 गांव में 146 भू-स्वामी को नोटिस भेजकर उनसे इस मामले में जवाब मांगा है. वहीं आज कलेक्टर के निर्देश पर नुविभाग के अंतर्गत अवैध प्लॉटिंग करने वालों के विरुद्ध तोड़फोड़ की कार्रवाई भी की गयी. बिलासपुर शहर से लगे पांच गांवों की दर्जन भर से ज्यादा अवैध निर्माण को बुलडोजर से ढहा दिया गया. अमेरी, घुरू,लोखंडी, पेंडारी और समलपुरी में कार्रवाई की गई. SDM वैभव क्षेत्रज्ञ के नेतृत्व में अवैध निर्माणों को धराशायी किया गया.

बुलडोजर चलना जारी रहेगा: SDM

दरअसल एसडीएम तखतपुर ने नोटिस जारी कर 9 फरवरी को शाम 5 बजे तक जवाब तलब किया था. शहर से लगे दर्जन भर गांवों के लगभग एक भी भू-स्वामी ने निर्धारित समय सीमा तक जवाब नहीं दिया. ये सभी प्लॉटर बिना कॉलोनाइजर लाइसेंस और नगर निवेश विभाग से बिना नक्शा पास कराए निर्माण शुरू कर दिए थे, जो कि सरकार के नियमों के खिलाफ है. मामले में एसडीएम क्षेत्रज्ञ ने कहा कि तोड़फोड़ की कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी. यदि जमीन मालिकों ने सही तरीके से जानकारी नहीं दी तो उनके खिलाफ कार्रवाई होनी तय है. यानी आने वाले दिनों में ऐसी जमीनों पर बुलडोजर चलेगा. सभी भू स्वामी बिलासपुर शहर के आसपास के रहने वाले गावों से हैं. उनके द्वारा भूमि की अवैध प्लॉटिंग कर छोटे छोटे टुकड़ों में जमीन बेची जा रही है. न तो उन्होंने कॉलोनाइजर लाइसेंस लिया है और न ही नगर निगम विभाग से नक्शा पास कराया है

वैध दस्तावेज नहीं मिलने पर होगा एक्शन

अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय तखतपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार, जिन 146 भू-स्वामियों और अवैध प्लॉट काटने वालों को नोटिस जारी की गई है. उन लोगों से जिला प्रशासन के अधिकारियों ने जमीन के संदर्भ में वैध कागज की मांग की है. वैध दस्तावेज नहीं मिलने पर उनके खिलाफ बड़ा एक्शन लिया जाएगा.

इन गांवों के जमीन मालिक शामिल

शहर से लगे जिन गांवों में अवैध प्लाटिंग हो रही है उनमें उसलापुर के 3, नीरतु के 1, घुरू के 17, सैदा के 15, अमेरी के 13, पेंडारी के 17, समलपुरी के 3, सकरी के 9, छतौना के 9,भरनी के 8, मेंड्रा के 29, लोखंडी के 9, हांफा के 11 तथा जोकी के 2 लोग शामिल हैं. कुछ अवैध प्लॉटिंग करने वालों के खुद के नाम पर भूमि है, जबकि कुछ लोग भूमि स्वामियों से अवैध रूप से एग्रीमेंट लिखाकर भूमि पर प्लॉटिंग करवा रहे हैं.

शहर के कथित बिल्डरों ने आसपास खरीदी जमीन और बेचने लगे

बता दें कि सकरी तहसील के अंतर्गत ग्राम अमेरी, लोखंडी, विंध्यासेर,नीरतू, काठाकोनी के अवैध प्लॉटर जिन्हें नोटिस जारी की गई है, इनमें विनोद माधवानी, लवकुमार सिंह, ममता पाण्डेय, गणेश राम, बजरंग लाल, संतकुमार गुप्ता के अलावा कई नाम शामिल हैं, साथ ही ग्राम सैदा के अनूप चढ्ढा, प्रवेश कुर्रे, पुष्पेंद्र प्रताप सिंह, अब्दुल अजीज, हेमंत मिश्रा, गज विनायक बिल्डर समेत कुल 146 लोगों को नोटिस जारी किया गया है. जिन्होंने जमीन के नाम पर गलत तरीके से लोगों को न सिर्फ जमीन बची है बल्कि आसपास मूलभूत सुविधा भी उपलब्ध नहीं करवाई है.

ज़रूर पढ़ें