ED ने महुआ मोइत्रा और दर्शन हीरानंदानी को भेजा समन, विदेशी मुद्रा के नियमों के उल्लंघन का मामला

Mahua Moitra: तृणमूल कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा और दर्शन हीरानंदानी के खिलाफ 27 मार्च को ईडी ने एक नया समन जारी किया है.

Mahua Moitra

ED ने महुआ मोइत्रा और दर्शन हीरानंदानी को भेजा समन, विदेशी मुद्रा के नियमों के उल्लंघन का मामला

Mahua Moitra: तृणमूल कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा सांसद महुआ मोइत्रा और दर्शन हीरानंदानी के खिलाफ 27 मार्च को ईडी ने एक नया समन जारी किया है. दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने फेमा उल्लंघन मामले में पूछताछ के लिए लगातार समन जारी कर रहा है. सूत्रों की मानें तो इस मामले में कुछ अन्य विदेशी प्रेषण और धन के हस्तांतरण के अलावा, अनिवासी बाहरी (एनआरई) खाते से जुड़े लेनदेन एजेंसी की जांच के दायरे में हैं. इन सभी संबंध में ईडी पूछताछ करना चाहता है.

बता दें कि महुआ मोइत्रा को ईडी ने पहले भी पूछताछ के लिए बुलाया था. वहीं दिसंबर 2023 में अनैतिक आचरण के लिए लोकसभा से निष्कासित कर दिया गया था. हालांकि उनकी पार्टी टीएमसी ने आगामी लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की कृष्णानगर सीट से फिर से उम्मीदवार बनाया है.

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: कौन हैं मोहिबुल्लाह नदवी? रामपुर सीट पर सपा ने क्यों जताया भरोसा

इससे पहले CBI ने मारा था छापा

ताजा समन केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा कैश-फॉर-क्वेरी मामले में उनके परिसरों पर छापा मारने के कुछ दिनों बाद आया है, जब भ्रष्टाचार विरोधी लोकपाल ने संघीय एजेंसी को भाजपा सांसद निशिकांत दुबे द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच करने का निर्देश दिया था. लोकसभा सदस्य निशिकांत दुबे ने आरोप लगाया है कि महुआ मोइत्रा ने उद्योगपति गौतम अडानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य लोगों पर हमला करने के लिए दुबई स्थित हीरानंदानी से नकदी और उपहार के बदले में संसद में सवाल पूछती थीं.

इससे पहले शनिवार को, सीबीआई ने कैश-फॉर-क्वेरी मामले के सिलसिले में मोइत्रा से जुड़े परिसरों की तलाशी ली थी. सीबीआई की टीमें कोलकाता में उनके आवास पर पहुंचीं और तलाशी कार्यवाही की जानकारी देने के बाद छापेमारी शुरू कर दी.

आरोपों को खारिज कर चुकी हैं महुआ मोइत्रा 

सूत्रों ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि कुछ अन्य विदेशी प्रेषण और फंड ट्रांसफर के अलावा एक अनिवासी बाहरी (एनआरई) खाते से जुड़े लेनदेन ईडी की जांच के दायरे में हैं. महुआ मोइत्रा ने किसी भी गलत काम से इनकार किया है और दावा किया है कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि उन्होंने अदानी समूह के सौदों पर सवाल उठाए हैं. केंद्रीय एजेंसी ने कृष्णानगर के पूर्व सांसद को 28 मार्च को दिल्ली में जांच में शामिल होने के लिए कहा है. मामले के संबंध में व्यवसायी दर्शन हीरानंदानी को भी तलब किया गया है.

ज़रूर पढ़ें