Lok Sabha Election 2024: पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने याद किया 44 साल का सियासी सफर, कहा- ‘कुछ और वर्ष बचे हैं’

Lok Sabha Election 2024: पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा है कि मैं जब मोदी जी के गठबंधन के साथ रहा तब भी और जब उनके गठबंधन के साथ नहीं रहा.

Jitan Ram Manjhi

पूर्व सीएम जीतन राम मांझी

Lok Sabha Election 2024: बिहार में पहले चरण के अंतर्गत चार सीटों पर लोकसभा चुनाव होंगे. इस चरण के दौरान गया, नवादा, औरंगाबाद और जमुई सीटों पर गुरुवार को नामांकन का अंतिम दिन है. नामांकन के अंतिम दिन हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा(HAM) नेता जीतन राम मांझी ने एनडीए के उम्मीदवार के तौर पर नामांकन करेंगे.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने नामांकन करने के बाद प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, “सभी एक उम्मीद के साथ लड़ते (चुनाव) हैं, राजनीति के 44 वर्ष गुजर चुके हैं, कुछ और वर्ष बचे हैं, उस शक्ति को जनता की सेवा में लगाना है जिसके लिए आज हम अपना नामांकन दाखिल करेंगे.’

हम कर्म पर विश्वास रखते हैं- जीतन राम मांझी

एनडीए के उम्मीदवार ने कहा, ‘मैं जब मोदी जी के गठबंधन के साथ रहा तब भी और जब उनके गठबंधन के साथ नहीं रहा तब भी, प्रधानमंत्री ने मुझे कई मौके पर प्रतिष्ठा दी है. मैंने एक सपना देखा था कि विधायक बनूं और यह भी कि सांसद बनूं, आगे क्या होगा हमें इसकी चिंता नहीं है, हम कर्म पर विश्वास रखते हैं.’

ये भी पढ़ेंं: Atiq Ahmed: अतीक के गैंग का शूटर बल्ली पंडित गिरफ्तार, 10 देसी बम बरामद, शाइस्ता परवीन साथ आई थी नजर

पूर्व सीएम ने इंडी गठबंधन पर जुबानी हमला करते हुए कहा, ‘पटना में जब बैठक (INDIA गठबंधन की) हुई थी तभी मैंने कहा था कि वे लोग ताश के पत्तों की तरह बिखर रहे हैं.’ गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में गया लोकसभा सीट जेडीयू के पास थी लेकिन इस बार एनडीए गठबंधन में यह सीट पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की पार्टी के पास चली गई है. जिसपर वह खुद उम्मीदवार हैं.

बता दें कि गया सीट पर बीजेपी ने 2009 और 2014 में जीत दर्ज की थी. तब बीजेपी के हरि मांझी यहां से चुनाव जीते थे. इस बार बीजेपी राज्य की 17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है. जबकि जेडीयू 16, चिराग पासवान की पार्टी को 5, HAM को एक और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी को एक सीट मिली है.

ज़रूर पढ़ें