Mukhtar Ansari Death: मुख्तार की मौत पर पूर्व BJP विधायक अलका राय बोलीं- ‘हमें लगा कि आज का दिन होली का दिन है’

Mukhtar Ansari Death: मुख्तार अंसारी की मौत पर बीजेपी की पूर्व विधायक और कृष्णानंद राय की पत्नी की प्रतिक्रिया आई है.

Alka Rai

पूर्व बीजेपी विधायक अलका राय (फोटो- सोशल मीडिया)

Mukhtar Ansari Death: मुख्तार अंसारी की मौत गुरुवार को बांदा के मेडिकल कॉलेज में हो गई है. उसकी मौत पर विभिन्न राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया आ रही है. बीजेपी के विधायक रहे कृष्णानंद राय की हत्याकांड के मामले में सजाफ्ता मुख्तार अंसारी पर पूर्व बीजेपी विधायक अलका राय की प्रतिक्रिया आई है. अलका राय, पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी हैं.

पूर्व विधायक अलका राय ने कहा, ‘कामना क्या है. यही है कि बाबा का आशीर्वाद है. बाबा के दरबार में हमेशा न्याय के लिए गुहार लगाती थी. होली का त्योहार हमलोग इस घटना के बाद नहीं मना पाते थे. आज हमें लगा कि आज का दिन होली का दिन है.’

मुख्तार की मौत पर उनके बड़े भाई सिबकतुल्लाह अंसारी ने कहा, “मीडिया के माध्यम से सूचना मिली। प्रशासन ने तो कोई सूचना नहीं दी. 18 मार्च से ही उनकी (मुख्तार अंसारी) काफी तबीयत खराब चल रही थी. बार-बार कहने के बावजूद कोई इलाज नहीं दिया जा रहा था. कोई इलाज नहीं दिया गया.”

पोस्टमार्टम के बाद आगे की प्रक्रिया करेंगे- उमर अंसारी

मुख्तार के बेटे उमर अंसारी का कहना है, “पोस्टमार्टम कल होगा. इसके बाद हम आगे की प्रक्रिया (अंतिम संस्कार) करेंगे. लगभग 5 डॉक्टरों का पैनल बनाया गया है (पोस्टमार्टम करने के लिए).” उन्होंने कहा, ‘आधिकारिक रूप से मुझे कुछ नहीं बताया गया, मुझे मीडिया के जरिए इस बारे में पता चला. लेकिन अब पूरा देश सब जानता है. दो दिन पहले मैं उनसे मिलने आया था, लेकिन मुझे इजाजत नहीं दी गई. 19 मार्च को रात के खाने में उन्हें जहर दिया गया था. हमें न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है.”

ये भी पढ़ें: Mukhtar Ansari Death: मुख्तार अंसारी पर पंजाब और यूपी सरकार के टकराव का किस्सा, सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निकला हल, जानें पूरा मामला

वहीं कृष्णानंद राय के भतीजे पीयुष राय ने कहा, ‘अल्लाह और भगवान एक ही हैं. जो फैसला न्याय के मंदिर में अधूरा रह गया था आज भगवान के मंदिर में वों फ़ैसला हो गया है. कौन कहता हैं की गाजीपुर का सौहार्द बिगड़ेगा. गाजीपुर में खुशी का माहौल है और पूरे रात दिवाली मनी है. अपराधी के अपराध के बहिखाते का अंत हो गया है.’

ज़रूर पढ़ें