कच्चातिवु द्वीप मामले को लेकर PM Modi ने कांग्रेस-डीएमके पर साधा निशाना, बोले- सामने आया इनका दोहरा चरित्र

Katchatheevu Island Issue: श्रीलंका को कच्चातिवु द्वीप देने के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर सोमवार (1 अप्रैल, 2024) को कांग्रेस और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की डीएमके पर निशाना साधा.

Narendra Modi

कच्चातिवु द्वीप मामले पर PM मोदी ने कांग्रेस-DMK पर फिर साधा निशाना

Katchatheevu Island Issue: श्रीलंका को कच्चातिवु द्वीप को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर सोमवार (1 अप्रैल, 2024) को कांग्रेस और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की डीएमके पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के लोगों के हितों की रक्षा के लिए डीएमके ने कुछ नहीं किया. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर पीएम मोदी ने लिखा, ‘‘बयानबाजी के अलावा, डीएमके ने तमिलनाडु के हितों की रक्षा के लिए कुछ नहीं किया है. कच्चातिवु पर सामने आ रही नई जानकारियों ने डीएमके के दोहरे चेहरों को पूरी तरह से बेनकाब कर दिया है.’’

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘‘कांग्रेस और डीएमके परिवार की इकाइयां हैं. वे केवल इस बात की परवाह करते हैं कि उनके अपने बेटे और बेटियां आगे बढ़ें. उन्हें किसी और की परवाह नहीं है. कच्चातिवु पर उनकी बेरुखी ने हमारे गरीब मछुआरों और विशेष रूप से मछुआरों के हितों को नुकसान पहुंचाया है.’

ये भी पढ़ें- Delhi Liquor Scam Case: सीएम अरविंद केजरीवाल को नहीं मिली राहत, अदालत ने 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजा

इससे पहले पीएम ने कांग्रेस पर साधा था निशाना

अपने सोशल मीडिया पोस्ट में पीएम मोदी ने एक खबर का हवाला दिया, जिसमें दावा किया गया है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री एम करूणानिधि ने समझौते पर सहमति दी थी. हालांकि, उनकी पार्टी डीएमके ने सार्वजनिक तौर पर इसका विरोध किया था. कच्चातिवु द्वीप के मुद्दे को लेकर पीएम मोदी ने इससे पहले रविवार (31 मार्च, 2024) को भी कांग्रेस पर निशाना साधा था.

कांग्रेस-बीजेपी के बीच सियासी बयानबाजी 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा, ‘‘भारत की एकता, अखंडता और हितों को कमजोर करना कांग्रेस का 75 साल से काम करने का तरीका रहा है.’’ बता दें कि यह मामला सुर्खियों में तब आया जब तमिलनाडु के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के.अन्नामलाई ने आरोप लगाया कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू श्रीलंका को कच्चातिवु द्वीप देने के इच्छुक थे. इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस के बीच बयानबाजी शुरू हो गई है.

ज़रूर पढ़ें