Lok Sabha Election 2024: पश्चिम बंगाल में महुआ मोइत्रा के खिलाफ बीजेपी ने चला दांव, कृष्णानगर सीट से अमृता रॉय को दिया टिकट

 Lok Sabha Election 2024: आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रविवार (24 मार्च) को बीजेपी ने उम्मीदवारों की पांचवीं लिस्ट जारी कर दी. इस लिस्ट में कुल 111 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं. वहीं कुछ मौजूदा सांसदों के टिकट काटे गए हैं.

Lok Sabha Election 2024

महुआ मोइत्रा के खिलाफ शाही परिवार की राजमाता

 Lok Sabha Election 2024: आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रविवार (24 मार्च) को बीजेपी ने उम्मीदवारों की पांचवीं लिस्ट जारी कर दी. इस लिस्ट में कुल 111 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं. वहीं कुछ मौजूदा सांसदों के टिकट काटे गए हैं. वहीं पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने बड़ा दांव चला है. दरअसल, बीजेपी ने राज्य के कृष्णानगर सीट से शाही परिवार की राजमाता अमृता रॉय को उम्मीदवार बनाया है. बता दें कि इस सीट से टीएमसी ने महुआ मोइत्रा फिर से  उम्मीदवार बनाया है.

अब बीजेपी इस सीट पर कड़ी चुनौती देने के इरादे से बहुत ही समझदारी के तहत उम्मीदवार के नाम की घोषणा की है. अमृता रॉय, कृष्णानगर के राजबाड़ी (रॉयल पैलेस) की राजमाता हैं. उनकी उम्मीदवारी को लेकर पिछले कुछ दिनों से कयास लगाए जा रहे थे. अमृत रॉय ने इस महीने 20 मार्च को बीजेपी में शामिल हुई थीं.

खुद को मजबूत बनाने की कोशिश में बीजेपी

चुनाव विशेषज्ञों का मानना है कि अमृता रॉय की उम्मीदवारी से बीजेपी को राज्य में मजबूती मिलेगी. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक जिला नेतृत्व ने सबसे पहले अमृता को उम्मीदवार बनाने में दिलचस्पी दिखाई और फिर पार्टी ने उनसे बातचीत शुरू की. वहीं , जब अमृता से चुनाव लड़ने के बारे में बात की गई तो वह तैयार हो गईं.

पिछले चुनाव में हुई थी महुआ मोइत्रा की जीत 

पिछले चुनाव में कृष्णानगर सीट से टीएमसी लीडर महुआ मोइत्रा ने जीत हासिल की थी. उन्हें 6 लाख से ज्यादा वोट मिले थे, जबकि बीजेपी के कल्याण चौबे को कुल 5 लाख वोट मिले थे. महुआ मोइत्रा ने 63218 के भारी अंतर से जीत दर्ज की. महुआ को चोपड़ा, पलाशीपारा और कालीगंज विधानसभा में जमकर वोट मिला था. हालाकिं, पिछले कुछ समय में यहां टीएमसी कमजोर हुई है.

बीजेपी को चाहिए था प्रभावशाली चेहरा

बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक वोटों का अंतर बढ़ाने के लिए एक ऐसे स्थानीय, प्रभावशाली और परिचित चेहरे की जरूरत थी. ऐसे में अमृता रॉय के नामांकन से बीजेपी को क्षेत्र में ताकत मिलेगी. राजा कृष्ण चंद्र देव बंगाल में काफी मशहूर हैं. वह 18वीं शताब्दी के दौरान अपने दूरदर्शी शासन के लिए जाने जाते हैं.

ज़रूर पढ़ें