Lok Sabha Election: संदेशखाली पीड़िता BJP उम्मीदवार की आपबीती, बेटियों को भेजा रिश्तेदार के घर, रेखा पात्रा की मदद के लिए तमिलनाडु से वापस लौटा मजदूर पति

Lok Sabha Election 2024: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली के यौन उत्पीड़न की पीड़िता रेखा पात्रा को बीजेपी ने बशीरहाट से लोकसभा का उम्मीदवार बनाया है. हाल ही पीएम मोदी ने रेखा को फोन किया और उन्हें शक्ति स्वरूपा कहा.

Lok Sabha Election 2024

रेखा पात्रा (बीजेपी उम्मीदवार, बशीरहाट लोकसभा सीट)

Lok Sabha Election 2024: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली के यौन उत्पीड़न की पीड़िता रेखा पात्रा को बीजेपी ने बशीरहाट से लोकसभा का उम्मीदवार बनाया है. हाल ही पीएम मोदी ने रेखा को फोन किया और उन्हें शक्ति स्वरूपा कहा. इतना कुछ होने के बाद वह अभी भी अचंभित हैं. उनका कहना है कि मैंने कभी ऐसी कल्पना भी नहीं की थी. रेखा पात्रा ने आगे कहा कि जब कभी मीडिया मुझसे कुछ कहने के लिए कहता है तो मेरे पास शब्द नहीं होते लेकिन मां-बहनें मेरे साथ हैं.

बता दें कि बशीरहाट में 7वें और आखिरी चरण में 1 जून को मतदान होना है. चुनाव प्रचार को देखते हुए रेखा पात्रा ने अपनी युवा बेटियों को एक रिश्तेदार के घर भेज दिया है. वहीं, तमिलनाडु में मजदूरी कर रहे उनके पति संदीप पात्रा चुनावी अभियान में  उनकी मदद के लिए घर वापस आ गए हैं. रेखा पात्रा ने ये भी बताया कि अपनी सुरक्षा के लिए उन्हें एक हफ्ते तक एक अज्ञात स्थान पर रहना पड़ा.

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: अमित शाह ने बताई पंडित नेहरू की सबसे बड़ी गलती, जम्मू-कश्मीर को लेकर किया ये दावा

“अब मुझे कोई डर नहीं”

संदेशखाली द्वीप पर पतरापारा के पास रेखा के दो कमरे का घर इन दिनों रिश्तेदारों और भाजपा कार्यकर्ताओं से भरा हुआ है. घर में एक टीवी सेट लगातार चलता रहता है. चुनाव अभियान के लिए रेखा महिला समर्थकों और छोटे टोटो में भाजपा नेताओं के साथ संदेशखाली ब्लॉक 2 का चक्कर लगा रही हैं, प्रार्थना करने के लिए मंदिरों में रुक रही हैं. रेखा का कहना है, “मैंने आजीविका कमाने के लिए दूसरों के घरों में काम किया, लेकिन हर दिन डर लगा रहता था. अब मैं गांव-गांव यात्रा करती हूं और कम से कम एक उम्मीदवार के रूप में, मुझे कोई डर नहीं है.

रेखा का कहना हैं, “मैं यहां पीड़ितों में से हूं लेकिन मुझमें खड़े होने का साहस था. वह कहती हैं कि संदेशखाली की महिलाएं इस लड़ाई में उनके साथ हैं, इससे उन्हें आत्मविश्वास मिलता है. रेखा ने कहा, “यह मत सोचिए कि केवल रेखा पात्रा ही चुनाव लड़ रही हैं. मैं संदेशखाली की उन सभी महिलाओं की प्रतिनिधि हूं जिन पर सत्ताधारी पार्टी के गुंडों द्वारा हमला किया गया था. वे सभी यह चुनाव लड़ रही हैं.”

टीएमसी का भाजपा पर पलटवार

वहीं, दूसरी ओर ममता बनर्जी की पार्टी ने गुरुवार को विवरण जारी कर दिखाया कि रेखा पात्रा ने 2021 में राज्य सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजना, स्वास्थ्य साथी का लाभ उठाया था. रेखा पात्रा ने इस मामले पर राष्ट्रीय महिला आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें कहा गया है कि टीएमसी ने उनकी निजी जानकारी साझा की है. इसे उनके निजता के अधिकार और एससी/एसटी अधिनियम का उल्लंघन बताया है.

टीएमसी विधायक ने रेखा पात्रा पर लगाया आरोप

वहीं टीएमसी ने कहा है कि भाजपा को झूठ फैलाने से बचना चाहिए कि योजनाओं का लाभ बंगाल में इच्छित लाभार्थियों तक नहीं पहुंचता है. मीडिया से बात करते हुए संदेशखाली के टीएमसी विधायक सुकुमार महतो ने इस मुद्दे पर कहा, “उन्होंने ममता बनर्जी की योजनाओं स्वस्थ साथी, लक्ष्मीर भंडार का लाभ उठाया है. फिर भी उन्होंने भाजपा उम्मीदवार के रूप में खड़ा होना चुना. उनसे पूछें कि अगर वह जीत गईं तो उनकी प्राथमिकता क्या होगी?”

रेखा पात्रा ने इस सवाल के जवाब में कहा, “हमें महिलाओं का सम्मान बहाल करना होगा. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि लोगों को यहीं नौकरी मिले और उन्हें मेरे पति की तरह दूसरे राज्यों में न जाना पड़े.”

ज़रूर पढ़ें