Lok Sabha Election 2024: महा विकास अघाड़ी में 44 सीटों पर बनी सहमति, इन 4 सीटों पर फंसा पेंच

Lok Sabha Election 2024:  लोकसभा चुनाव को लेकर महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के बीच राज्य की 48 सीटों में से 44 पर समझौता हो चुका है. लेकिन, अभी भी 4 लोकसभा सीटों पर मामला फंसा हुआ है.

Lok Sabha Election 2024

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और शिवसेना (यूबीटी) नेता उद्धव ठाकरे

Lok Sabha Election 2024:  लोकसभा चुनाव को लेकर महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के बीच राज्य की 48 सीटों में से 44 पर समझौता हो चुका है. लेकिन, अभी भी 4 लोकसभा सीटों पर मामला फंसा हुआ है. कांग्रेस एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि कांग्रेस, एनसीपी और उद्धव ठाकरे की शिवसेना के बीच चार सीटों का पेंच फंसा हुआ है. जिन चार सीटों को लेकर अभी भी समझौता नहीं हो सका है, वे सीटें हैं-  मुंबई दक्षिण-मध्य, मुंबई उत्तर-पश्चिम, भिवंडी और सांगली है.

एक कांग्रेस नेता के मुताबिक, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और कांग्रेस विधायक दल के नेता बालासाहेब थोराट की एक के बाद एक कई बैठकें हुईं, जिसके बाद 44 सीटों पर फैसला लिया जा सका. सीट बंटवारे के फॉर्मुले के मुताबिक, शिवसेना (यूबीटी) 19 सीट, कांग्रेस 16 और एनसीपी 9 सीटों पर दावेदारी पेश करेंगी.

ये भी पढ़ें- Haryana News: सीएम नायब सिंह सैनी ने विभागों का किया बंटवारा, जानें किसे मिला कौन सा मंत्रालय

राहुल-खरगे सुलझाएंगे सीट बंटवारे का  विवाद 

ऐसी चर्चा है कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और कांग्रेस नेता राहुल गांधी अब चार विवादास्पद सीटों पर शरद पवार और उद्धव ठाकरे से बात करेंगे. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, इन सीटों पर आम सहमति की कमी के कारण एमवीए पूरी रणनीतिक रूप से आखिरी फैसला के लिए तैयार नहीं हो पाया है. कांग्रेस मुंबई दक्षिण मध्य, उत्तर-पश्चिम, भिवंडी और सांगली के लिए इच्छा जाहिर कर चुकी है. जबकि उद्धव ठाकरे की पार्टी ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि सांगली पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा. शिवसेना (यूबीटी) पहलवान चंद्रहर पाटिल को सांगली से चुनावी मैदान में उतारने का फैसला किया है.

भिवंडी सीट की मांग कर रहे हैं शरद पवार

महाराष्ट्र की भिवंडी लोकसभा सीट पर अडे शरद पवार ने साफ तौर इसे छोड़ने से इनकार कर दिया है. कांग्रेस नेता ने आगे बताया कि उद्धव ठाकरे ने कहा कि पश्चिमी महाराष्ट्र में उनकी पार्टी कमजोर है. इसलिए, वह सांगली सीट अपने खाते में रखने के लिए वह लगातार जोर दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह पहले ही कोल्हापुर सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दिया है, जहां से कांग्रेस ने शाहू छत्रपति को उम्मीदवार बनाने का फैसला की है.

प्रत्याशियों को इशारा कर चुकी है शिवसेना

शिवसेना (यूबीटी) के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि उनकी पार्टी ने अपने उम्मीदवारों (पाटिल को छोड़कर) के नामों की घोषणा नहीं की है, लेकिन सभी संबंधित उम्मीदवारों को संदेश भेजे गए हैं कि उन्हें तुरंत चुनाव की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि वे पहले ही अपने अभियान शुरू कर चुके हैं.

ज़रूर पढ़ें