Lok Sabha Election: BJP प्रत्याशी भोजराज नाग का बयान वायरल, बोले- कोई समस्या होगी तो मैं नींबू काटकर खत्म करुंगा

Lok Sabha Election: भाजपा ने इस बार अंतागढ़ के पूर्व विधायक भोजराज नाग को कांकेर लोकसभा का टिकट दिया है. लोकसभा चुनाव में रिपिट ना करते हुए लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी ने नया चेहरा दिया है. भाजपा प्रत्याशी भोजराज नाग जनता के मुद्दे से जुड़े रहे हैं. लोगों की समस्याओं पर धरना प्रदर्शन करते रहे हैं.

Chhattisgarh News

कांकेर प्रत्याशी भोजराज नाग

Lok Sabha Election: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव को लेकर नेताओं के अजब-गजब दावे सोशल मीडिया में वायरल हो रहे है. पहले बस्तर लोकसभा से कांग्रेस के प्रत्याशी कवासी लखमा का टिकट को लेकर दिया बयान वायरल हुआ. अब कांकेर लोकसभा से बीजेपी के प्रत्याशी भोजराज नाग का बयान चर्चाओं में आ गया है.

मैं नीबूं काटकर समस्या खत्म करुंगा – भोजराज नाग

दरअसल गुरुवार को भोजराज नाग ने बालोद के चुनावी सभा में कहा कि बस्तर के बैगा आदिवासी को प्रत्याशी बनाया गया है. इसके लिए मैं आभारी हूं. उन्होंने कहा कि मैं एक पुजारी बैगा होने के नाते आप से आशीर्वाद मांग रहा हूं. कोई समस्या होगी तो कोई तंत्र-मंत्र होगा, ऐसे में मैं नींबू काटकर समस्या खत्म करुंगा.

बता दें कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुकाबला है. दोनों तरफ से नेताओं ने कमर कस ली है. वोटर का विश्वास जीतने के लिए दोनों ही पार्टी के प्रत्याशी दावा करते नहीं थक नहीं रहे है. बीजेपी नेता तंत्र-मंत्र के जरिए जनता की समस्या को खत्म करने का दावा किया है.

ये भी पढ़ें – समोसा बेचने वाले अजय लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, बोले- नेताओं की चिकनी-चुपड़ी बातों और वादों से परेशान होकर चुनावी रण में उतरा

बीजेपी ने भोजराज नाग को कांकेर से बनाया प्रत्याशी

भाजपा ने इस बार अंतागढ़ के पूर्व विधायक भोजराज नाग को कांकेर लोकसभा का टिकट दिया है. वर्तमान सांसद मोहन मंडावी का टिकट काट दिया है, जो पिछले महीने भर से सोशल मीडिया में छाए हुए थे. उन्हें रामायणी सांसद के रुप में पहचान मिली थी. लोकसभा चुनाव में रिपिट ना करते हुए लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी ने नया चेहरा दिया है. भाजपा प्रत्याशी भोजराज नाग जनता के मुद्दे से जुड़े रहे हैं. लोगों की समस्याओं पर धरना प्रदर्शन करते रहे हैं. इसके अलावा क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या आदिवासी धर्मातरण हो रहे है, जिसके खिलाफ लगातार वे आवाज उठाते आ रहे हैं.

ज़रूर पढ़ें