Lok Sabha Election: कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी देवेंद्र यादव ने धरना दे रहे जगदीश को पानी पिलाकर अनशन कराया खत्म

Lok Sabha Election: दो दिन तक जगदीश कौशिक दिनभर कांग्रेस भवन के बाहर बिना कुछ खाए पिए पड़े रहे. गर्मी में भी उन्होंने ना तो पानी पीना उचित समझा और नहीं कांग्रेस भवन के भीतर जाकर रहना. लेकिन जब खुद कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र यादव और कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केसरवानी ने शुक्रवार की सुबह पहुंचकर उनसे अनशन तोड़ने की बात कही तो वह मान गए,

Chhattisgarh News

अनशन पर बैठे जगदीश को पानी पिलाते देवेन्द्र यादव

Lok Sabha Election: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में कांग्रेस के टिकट वितरण को लेकर चल रही एक बड़ी कलह का शुक्रवार को अंत हो गया. गुरुवार को भिलाई से बिलासपुर पहुंचे कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी देवेंद्र यादव ने कांग्रेस की तरफ से सांसद का टिकट मांग रहे जगदीश कौशिक को पानी पिलाकर उसका आमरण अनशन तोड़वाया. साथ में कांग्रेस कमेटी के शहर व जिला अध्यक्ष भी मौजूद रहे, जिनके मनाने के बाद जगदीश ने यह अनशन तोड़ा है.

गौरतलब है बिलासपुर के कांग्रेस भवन के बाहर बोदरी नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष जगदीश कौशिक आमरण अनशन पर बैठ गए थे. वे पार्टी से टिकट की मांग कर रहे थे और उन्होंने कांग्रेस भवन की दीवारों पर अपनी भावनाएं लिखकर चस्पा कर दी थी. उन्होंने खुद के पार्टी के प्रति समर्पण और उन्हें टिकट नहीं मिलने से क्षुब्ध होकर ऐसा करना लिखा था. उन्हें मनाने की कोशिश लगातार जारी थी लेकिन शुक्रवार को ही सफल हो पाई.

देवेंद्र यादव ने शुक्रवार की सुबह पहुंचकर किया आग्रह

कांग्रेस नेता जगदीश कौशिक का यह हाई प्रोफाइल ड्रामा 2 दिन चला रहा. चर्चा इस बात की भी रही कि उसे बिलासपुर के कुछ कांग्रेसियों ने ही धरने पर बैठाया है, उनकी मंशा यह थी कि बिलासपुर से किसी योग्य प्रत्याशी को न चुनकर संसद के लिए भिलाई के एक युवा प्रत्याशी को यहां से अवसर दिया जा रहा है. यही बात थी कि बिलासपुर से जगदीश कौशिक ने खुद के टिकट की मांग करते हुए आमरण अनशन की घोषणा कर दी थी.

ये भी पढ़ें – JCCJ की कोर कमेटी की बैठक में आए विभिन्न प्रस्ताव, 7 सदस्यों वाली पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (PAC) का हुआ गठन

ऐसे खत्म हुआ पूरा ड्रामा

बुधवार से गुरुवार और शुक्रवार यानी 2 दिन तक जगदीश कौशिक दिनभर कांग्रेस भवन के बाहर बिना कुछ खाए पिए पड़े रहे. गर्मी में भी उन्होंने ना तो पानी पीना उचित समझा और नहीं कांग्रेस भवन के भीतर जाकर रहना. लेकिन जब खुद कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र यादव और कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केसरवानी ने शुक्रवार की सुबह पहुंचकर उनसे अनशन तोड़ने की बात कही तो वह मान गए, और कुल मिलाकर 2 दिन से चल रहे आंदोलन का अंत हो गया.

ज़रूर पढ़ें