Lok Sabha Election: ‘मैं उनकी सहायता करूं या…’, अखिलेश यादव-राहुल गांधी को लेकर भीम आर्मी चीफ का बड़ा दावा, कही ये बात

Lok Sabha Election: आजाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने दावा किया कि यूपी की नगीना सीट के लिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से समर्थन मांगा गया था.

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद (फाइल फोटो)

Lok Sabha Election: भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने इंडी गठबंधन के नेताओं को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने दावा किया कि यूपी की नगीना सीट के लिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से समर्थन मांगा गया था.

नगीना से चुनाव लड़ रहे चंद्रशेखर आजाद ने कहा, “अखिलेश यादव और राहुल गांधी से समर्थन मांगा था. मैंने सिर्फ इतना कहा था कि आप एक सीट पर मुझे समर्थन करें, मैं आपकी तमाम सीटों पर सहायता करूंगा, लेकिन पता नहीं लोगों ने इसका क्या अर्थ समझा और मेरे खिलाफ उम्मीदवार उतार दिया. अब मेरी पार्टी मेरा रोल तय करेगी कि मैं उनकी सहायता करूं या ना करूं.”

ये भी पढ़ेंः 44 साल में ‘इकाई’ से सीटों का ‘तीहरा शतक’ जड़ने वाली BJP; जानिए कैसे जनसंघ से निकलकर बनी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी

नगीना में सभी प्रमुख दलों ने उतारे उम्मीदवार

उत्तर प्रदेश की नगीना लोकसभा सीट पर सभी प्रमुख राजनीतिक दलों ने उम्मीदावर उतार दिए हैं. भाजपा ने ओम कुमार पर भरोसा दिखाया है. वहीं, सपा ने मनोज कुमार और बसपा ने सुरेंद्र पाल को टिकट दिया है. बता दें कि नगीना सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है.

मायावती पर भीम आर्मी चीफ ने कही ये बात

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर भी बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि बहनजी ने बाहर के उम्मीदवार सुरेंद्र पाल को नगीना से टिकट दिया है. ऐसे उन्होंने मेरी लिए किया है. उन्होंने मेरी सहायता का यह तरीका चुना है. परिवार का कोई सदस्य ही यह इशारा समझ सकता है.

चंद्रशेखर आजाद को मिली Y+ सुरक्षा

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को हाल ही में गृह मंत्रालय ने Y+ कैटेगिरी की सुरक्षा प्रदान की है. पिछले साल जून में सहारनपुर के देवबंद में उनपर जानलेवा हमला हुआ था. जिसके बाद से भीम आर्मी के कार्यकर्ता उनके लिए सुरक्षा की मांग कर रहे थे. वहीं, नगीना से अपना नॉमिनेशन भरने के दौरान चंद्रशेखर ने भी सुरक्षा की मांग दोहराई थी.

यूपी में कब-कब होगी वोटिंग?

पहले चरण की वोटिंग: 19 अप्रैल (8 सीट)- मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, कैराना, बिजनौर, नगीना, मुरादाबाद, रामपुर और पीलीभीत में वोटिंग होगी.
दूसरा चरण: 26 अप्रैल (8 सीट)- अमरोहा, गाजियाबाद, मेरठ, बागपत, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, अलीगढ़ और मथुरा में वोटिंग होगी.
तीसरा चरण: 7 मई (10 सीट)- संभल, आगरा, हाथरस, फतेहपुर सीकरी, मैनपुरी, फिरोजाबाद, एटा, बदायूं, आंवला और बरेली में मतदान होगा.
चौथा चरण: 13 मई (13 सीट)- शाहजहांपुर, धौरहरा, खीरी, सीतापुर, हरदोई, फर्रुखाबाद, मिश्रिख, उन्नाव, इटावा, अकबरपुर, कन्नौज, कानपुर और बहराइच में वोटिंग होगी.
पांचवां चरण: 20 मई (14 सीट)- मोहनलालगंज, जालौन लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, झांसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, कैसरगंज और गोंडा में वोटिंग होगी.
छठा चरण: 25 मई (14 सीट)- सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अम्बेडकरनगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, लालगंज, बस्ती, संतकबीर नगर, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही में मतदान होगा.
सातवां चरण: 1 जून (13 सीट)-महराजगंज, गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज में वोटिंग होगी.

ज़रूर पढ़ें