MP News: बालाघाट में कांग्रेस प्रत्याशी से नाखुश पार्टी के नेता, जिलाध्यक्ष, तीन विधायक और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष पहुंचे दिल्ली

Lok Sabha Election2024: कांग्रेस के जिलाध्यक्ष, तीन विधायक और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष दिल्ली पहुंचे हैं. सूत्रों के मुताबिक संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष सम्राट सिंह सरस्वार को कांग्रेस के प्रत्याशी बनाए जाने से सब नाराज चल रहे हैं.

loksabha-balaghat-chinav-pardhi

बालाघाट में भारती पारधी और सम्राट सिंह सरस्वार के बीच टक्कर है

भोपाल: 2024 के लोकसभा चुनाव नजदीक है. सभी पार्टियां चुनाव प्रचार में जुटी हुई. एमपी 4 चरणों मे वोटिंग होनी है वहीं नतीजे 4 जून को आने है. बालाघाट-सिवनी में पहले चरण में मतदान होना है. कल नामांकन के का आखिरी दिन है. लेकिन प्रदेश के साथ जिले में भी कांग्रेस के भीतर कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. कांग्रेस के जिलाध्यक्ष, तीन विधायक और पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष दिल्ली पहुंचे हैं. ये नाम बैहर विधायक व कांग्रेस जिलाध्यक्ष संजय उइके,पूर्व लांजी विधायक व पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हीना कावरे,वारासिवनी विधायक विवेक पटेल और बालाघाट विधायक अनुभा मुंजारे है. सूत्रों के मुताबिक संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष सम्राट सिंह सरस्वार को कांग्रेस के प्रत्याशी बनाए जाने से सब नाराज चल रहे हैं. जिसके बाद लोकसभा प्रत्याशी की टिकट बदलने को लेकर सभी आलाकमान से मिलने के लिए दिल्ली पहुंचे है. वहीं दूसरी तरफ सम्राट सिंह सरस्वार जब अपना नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे तो उनके साथ मात्र एक पूर्व सांसद के अलावा कोई दिग्गज मौजूद नही था.

टिकट बंटवारे से नाखुश हैं पार्टी के नेता

कांग्रेस नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष सम्राट सिंह सरस्वार को कांग्रेस का प्रत्याशी बनाए जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में असंतुष्टता का माहौल है. कार्यकर्ता नाराज चल रहे है. पूर्व सांसद कंकर मुंजारे भी कांग्रेस से टिकट को लेकर दौड मे शामिल थे, किन्तु अब पार्टी के इस फैसले के बाद उनका भी निर्दलीय मैदान पर उतरना लगभग तय माना जा रहा है. वहीं  कंकर मुंजारे कांग्रेस के लिये खतरे की घंटी बन सकते हैं. आदिवासी समुदाय कांग्रेस का वोट बैंक माना जाता है, जबकि बालाघाट में कंकर मुंजारे भी आदिवासी और लोधी समाज के बीच काफी लोकप्रिय है. ऐसे में अबकी बार बालाघाट में कांग्रेस की डगर आसान नजर नहीं आ रही है. वैसे कांग्रेस के टिकट वितरण के बाद अब राजनीतिक जानकारों के मुताबिक अबकी बार कांग्रेस ने बालाघाट सिवनी लोकसभा सीट भाजपा को गिफ्ट में दे दी.

ये भी पढ़े: रोचक चुनावी इतिहास वाले शहडोल में इस बार बीजेपी की हिमाद्री और कांग्रेस के फुंदेलाल मार्को के बीच होगा मुकाबला

अब बीजेपी की भारती पारधी vs कांग्रेस के सम्राट सिंह सरस्वार के बीच टक्कर

अब इस बार बालाघाट में कांग्रेस के सम्राट सिंह सरस्वार और भाजपा प्रत्याशी भारती पारधी के बीच मुकाबला होगा. भाजपा प्रत्याशी भारती की करें तो वे पार्षद हैं, उनकी खुद की छवि भी बेहतर है. इसके साथ ही उनके साथ संगठन है, जो काफी मजबूत नजर आ रहा है. इसके अलावा सबसे बड़ा फैक्टर जातिगत समीकरण है. जिसमें भारती पारधी कहीं आगे नजर आ रही हैं. वहीं कांग्रेस प्रत्याशी कांग्रेस के सम्राट सिंह सरस्वार जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, लेकिन उनकी आम जनता तक पहुंच कुछ खास नहीं है. इसके साथ ही पार्टी में चल रही गुटबाजी के चलते भीतरघात की संभवानाओं से इनकार नहीं किया जा सकता.

अभी तक बालाघाट की सीट 15 तक कब्जे मे रही हैं अब देखना यह है कि क्या कांग्रेस बीजेपी के पाले से ये सीट जीतने में कामायाब होगी. लेकिन अभी कांग्रेस के अंदर मची उथल-पुथल को देखकर ये मुश्किल ही मालूम पड़ता है.

ज़रूर पढ़ें