Budaun Murder: 5 हजार रुपये मांगने घर आया था आरोपी साजिद, बोला-‘भाभी चाय बनाओ’, बदायूं हत्याकांड की पूरी कहानी

Budaun Double Murder Case: यूपी के बदायूं में मंडी समिति चौकी के पास बाबा कॉलोनी में दो सगे भाईयों की हत्या कर दी गई. जबकि इस हत्याकांड में तीसरा भाई भी घायल हो गया था.

Badaun Murder

बदायूं हत्याकांड की पूरी कहानी

Budaun Double Murder Case: यूपी के बदायूं में मंडी समिति चौकी के पास बाबा कॉलोनी में दो सगे भाईयों की हत्या कर दी गई. जबकि इस हत्याकांड में तीसरा भाई भी घायल हो गया था. घटना के बाद से ही पूरे इलाके में सुरक्षा व्यवस्था का कड़े इंतजाम किए गए हैं. बुधवार की सुबह पुलिस अधिकारियों ने बदायूं में मृतक बच्चों के घर का निरीक्षण किया. वहीं, पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है. घटना मंगलवार शाम उस समय हुआ जब आरोपी सैलून संचालक साजिद बच्चों के घर पर गया. इसके बाद उसने बच्चों की मां संगीता से कहा था कि भाभी चाय बनाओ मैं अभी ऊपर से आ रहा हूं. मां चाय बनाने लगी और साजिद ने तीसरी मंजिल पर जाकर उसके बच्चों की हत्या कर दी.

इस घटना का चश्मदीद और तीसरा बेटा चिल्लाता हुआ छत से नीचे भागा. इसके बाद उसकी मां और दादी जब ऊपर पहुंचीं तो आरोपी साजिद छत पर ही खड़ा था. घटना के बाद से ही मां और दादी का रो-रोकर बुरा हाल है. वहीं, जान बचाकर मौत के मुंह से निकला तीसरा बेटा अभी सदमे में है.

ये भी पढ़ें- Badaun Double Murder Case: बदायूं में मासूमों की हत्या के बाद FIR, मृतक के पिता का बड़ा खुलासा, BJP-सपा आपस में भिड़े

पैसे मांगने के लिए घर गया था आरोपी

बता दें कि बदायूं के मंडी समिति से मझिया रोड पर स्थित बाबा कालोनी में मंगलवार देर शाम ठेकेदार विनोद कुमार के घर हुआ. जिसमें  बेटे आयुष और अहान की हत्या कर दी गई. उनका तीसरा बेटा पीयूष इस घटना का चश्मदीद गवाह है. इस हत्याकांड का आरोपी सखानू का रहने वाला साजिद विनोद के घर के सामने ही सैलून चलाता है. परिवारवालों के मुताबिक, शाम को साजिद उनके घर पहुंच गया. विनोद की पत्नी संगीता से कहा कि उसकी पत्नी को बच्चा होने वाला है और वह अस्पताल में भर्ती है. संगीता ने अपने पति विनोद से पूछा तो उन्होंने कह दिया कि सामने रहता है उसे रुपये दे दो. संगीता ने उसे पांच हजार रुपये दे दिए. इसके बाद वह उसने कहा कि भाभी चाय बनाओ मैं ऊपर हूं.

छत से नीचे भागकर पीयूष ने बचाई जान 

इसके बाद बच्चों की मां संगीता चाय बनाने लगी. इसी बीच आरोपी साजिद ऊपर तीसरी मंजिल पर पहुंच गया, जहां तीनों बच्चे खेल रहे थे. साजिद ने चाकू और उस्तरा से दो बच्चों को मार डाला. उसने पीयूष को भी मारने का प्रयास किया. पहले तो वह छत पर भागता रहा, उसके शरीर और गर्दन पर भी चाकू के निशान लगे हैं. चिल्लाते हुए वह नीचे भागकर अपनी जान बचाई.

इस घटना से दहशत पीयूष ने बताया कि आरोपी मुझे भी मार रहा था…  साजिद जब उन पर चाकू से हमला कर रहा था तो बच्चे चिल्ला रहे थे. खौफजदा पीयूष ने बताया कि साजिद उसको भी मारने के लिए दौड़ा रहा था. पहले वह छत पर भागता रहा. इस बीच उसके शरीर पर भी चाकू लगा, लेकिन वह साजिद को चकमा देने में कामयाब हो गया और नीचे भाग गया था.

ज़रूर पढ़ें