Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ पुलिस और तेलंगाना ग्रे हाउंड का एंटी नक्सल ऑपरेशन, अब तक 3 नक्सली ढेर

Chhattisgarh News: बता दें कि बीजापुर में 2 अप्रैल को बड़ी मुठभेड़ हुई. जवानों की संयुक्त टीम ने एनकाउंटर में 13 नक्सलियों को मार गिराया. घने जंगल में हार्डकोर नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों के जवानों ने घेराबंदी कर 13 नक्सलियों को ढ़ेर कर दिया था.
Chhattisgarh News

File Image

Chhattisgarh News: तेलंगाना-छत्तीसगढ़ सीमा पर जवानों और नक्सलियों की मुठभेड़ में तीन नक्सली मारे गए हैं. मौके से नक्सलियों के शव और हथियार बरामद किये गये हैं. तेलंगाना ग्रेहाउंड और छत्तीसगढ़ पुलिस ने संयुक्त एंटी नक्सल ऑपरेशन चलाया. जिसमें जवानों को बड़ी कामयाबी मिली है.

कांकेर के कर्रीगुटा जंगलों में हुई मूठभेड़

उसूर थाना क्षेत्र में कांकेर के कर्रीगुटा जंगलों में छत्तीसगढ़ पुलिस के सहायक सहयोग से तेलंगाना के ग्रेहाउंड्स के नेतृत्व में नक्सल विरोधी अभियान चलाया गया. इस मुठभेड़ में तीन नक्सली मारे गए. घटनास्थल से एक LMG और एक AK-47 समेत कई हथियार और नक्सलियों के शव बरामद किये गये हैं.

ये भी पढ़ें – दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों को मिली सफलता, मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर

शुक्रवार को दंतेवाड़ा मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर 

पुरांगेल, बड़ेपल्ली, डोडीतुमनार और गमपुर इलाकों में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर गुरुवार को संयुक्त सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन शुरू किया. इस मुठभेड़ के बाद जवानों को एक नक्सली का शव मिला. मौके से हथियार भी बरामद किए गए.

बीजापुर में 2 अप्रैल को हुई मूठभेड़ में 13 नक्सली ढेर

बता दें कि छत्तीसगढ़ के बीजापुर में 2 अप्रैल को बड़ी मुठभेड़ हुई. जवानों की संयुक्त टीम ने एनकाउंटर में 13 नक्सलियों को मार गिराया. घने जंगल में हार्डकोर नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों के जवानों ने घेराबंदी कर 13 नक्सलियों को ढ़ेर कर दिया था. सभी नक्सलियों के शव भी बरामद कर लिए गए. मारे गए 11 नक्सलियों की शिनाख्त हो चुकी हैं.

ग्रे हाउंड ने पहले भी 6 बार छत्तीसगढ़ के जंगलों में घुसकर नक्सलियों को मारा है.

ग्रे हाउंड मूलतः आंध्रप्रदेश के जवानों का एक दल है, जिसे माओवादियों और उग्रवाद के खिलाफ गुरिल्ला और कॉम्बैट वॉर के लिए ही तैयार किया गया था, बाद में तेलंगाना राज्य बनने के बाद भी इस फोर्स को वैसे ही रखा गया है. तेलंगाना की ग्रे हाउंड, महाराष्ट्र की C60 और बस्तर के डीआरजी के जवानों के एन्टी नक्सल ऑपरेशन्स से नक्सलियों को बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है.

ग्रे हाउंड के जवानों ने आज बीजापुर के पुजारी कांकेर के जिस इलाके में 3 माओवादियों को मार गिराने में सफलता हासिल की है, उसी इलाके में साल 2018 के अप्रैल महीने में 8 माओवादियों को मार गिराया था. बीजापुर के उसूर ब्लॉक के ही इलमिडी गांव के जंगलों में भी ग्रे हाउंड के जवानों ने 10 माओवादियों को मार गिराया था. सुकमा जिले के जंगलों में चलाए गए एक ऑपरेशन में ग्रे हाउंड ने एक दर्जन माओवादियों को मार गिराया था, जबकि पामेड़ क्षेत्र में चलाए गए एक और ऑपरेशन में भी ग्रे हाउंड के जवानों ने आधा दर्जन माओवादियों को मार गिराया था लेकिन पामेड़ के इस ऑपरेशन में ग्रे हाउंड का एक जवान भी शहीद हो गया था. इसके अलावा माओवादियों के एक शादी के कार्यक्रम के दौरान भी ग्रे हाउंड के जवानों ने ही हमला कर दिया था जिसमें माओवादी नेता पापाराव को भी गोली लगी थी.

ज़रूर पढ़ें