“यह हमारी नीति नहीं…”, भारत ने कनाडा के चुनाव में हस्तक्षेप के आरोपों को किया खारिज

MeA के प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने कहा, “वास्तव में, यह बिल्कुल उलट है. यह कनाडा है जो हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है. हम नियमित रूप से उनके साथ इस मुद्दे को उठाते रहे हैं.”

विदेश मंत्री एस जय शंकर

विदेश मंत्री एस जय शंकर

India Canada Conflict: भारत ने कनाडा में चुनाव में हस्तक्षेप के आरोपों को खारिज कर दिया है. भारत ने आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह कनाडा ही है जो “हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप” कर रहा है. एक खुफिया रिपोर्ट में, कनाडा ने भारत को एक “विदेशी खतरा” बताया था जो संभावित रूप से उनके चुनावों में हस्तक्षेप कर सकता है. इससे पहले भी कनाडा भारत पर संगीन आरोप लगा चुका है.

विदेश मंत्रालय ने कहा, “हमने विदेशी हस्तक्षेप की जांच कर रहे एक कनाडाई आयोग के बारे में मीडिया रिपोर्टें देखी हैं… हम कनाडाई चुनावों में भारतीय हस्तक्षेप के ऐसे निराधार आरोपों को दृढ़ता से खारिज करते हैं. अन्य देशों की लोकतांत्रिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप करना भारत की नीति नहीं है.”

यह भी पढ़ें: नीतीश को फर्श से अर्श पर पहुंचाया, ऐसे ही नहीं लालकृष्ण आडवाणी के फैन हैं बिहार के सीएम

MeA के प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने कहा, “वास्तव में, यह बिल्कुल उलट है. यह कनाडा है जो हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है. हम नियमित रूप से उनके साथ इस मुद्दे को उठाते रहे हैं. हम कनाडा से हमारी मुख्य चिंताओं को दूर करने के लिए प्रभावी कदम उठाने के लिए कहते रहते हैं.”

बता दें कि कनाडा ने भारत पर नए सिरे से आरोप लगाया है. इससे पहले कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के लिए भारत के खूफिया एजेंसी को आरोपी ठहराया था. भारत ने कनाडा के सारे आरोपों को बेबुनियाद बताया है. “विदेशी हस्तक्षेप और चुनाव: एक राष्ट्रीय सुरक्षा आकलन” शीर्षक वाली अक्टूबर 2022 की रिपोर्ट में भारत को “खतरा” कहा गया और चेतावनी दी गई कि विदेशी हस्तक्षेप कनाडा के लोकतंत्र को कमजोर कर रहा है.

ज़रूर पढ़ें