Lok Sabha Election 2024: बिहार में बड़ा होगा INDI गठबंधन का कुनबा! कांग्रेस और RJD को मिलेगा एक नया साथी, लालू यादव के चहेते की होगी वापसी

Lok Sabha Election 2024: बिहार में अब लोकसभा चुनाव में नामांकन शुरु होने से पहले INDI गठबंधन का कुनबा बड़ा होते नजर आ रहा है.

Bihar Alliance

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और आरजेडी चीफ लालू यादव

Lok Sabha Election 2024: बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का नामांकन बुधवार से शुरू हो चुका है. नामांकन शुरू होने से पहले इंडी गठबंधन का कुनबा राज्य में बड़ा होते नजर आ रहा है. राज्य में आरजेडी के नेतृत्व वाले इस गठबंधन को एक नया साथी मिलते नजर आ रहा है. ये कयास मंगलवार की रात को एक तस्वीर सामने आने के बाद लगाए जा रहे हैं.

बिहार में आरजेडी हाईकमान अपने गठबंधन के साथियों के साथ बैठक कर सीट शेयरिंग के मुद्दे को सुलझाने में लगे हुए हैं. वहीं मंगलवार की देर शाम को जन अधिकार पार्टी प्रमुख पप्पू यादव पटना स्थित लालू प्रसाद यादव से मिलने पहुंचे. इन दोनों की मुलाकात के दौरान पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी मौजूद रहे. इसकी तस्वीरें सामने आते ही सियासी अटकलें तेज हो गई हैं.

Bihar Politics

लालू यादव और तेजस्वी यादव के साथ पप्पू यादव

इस मुलाकात की तस्वीर शेयर करते हुए पप्पू यादव ने अपने अधिकारिक सोशल मीडियो अकाउंट पर लिखा, ‘आज अभिभावक पितातुल्य आदरणीय लालू जी, माननीय नेता प्रतिपक्ष भाई तेजस्वी जी के साथ पारिवारिक माहौल में मुलाक़ात! मिलकर बिहार में बीजेपी को जीरो पर आउट करने की रणनीति पर चर्चा हुई. बिहार में INDIA गठबंधन की मज़बूती, सीमांचल, कोसी, मिथिलांचल में 100% सफलता लक्ष्य है.’

इस वजह से मिले संकेत
पप्पू यादव की इस प्रतिक्रिया से स्पष्ट हो गया कि वह इंडी गठबंधन के साथ हैं और आगामी चुनाव में उनके साथ ही लड़ने के संकेत हैं. उन्होंने अपने इलाके में इंडी गठबंधन को समर्थन देने का संकेत दिया है. गौरतलब है कि पप्पू यादव को लालू यादव का करीबी माना जाता है.

ये भी पढ़ें: Badaun Double Murder Case: बदायूं में दो सगे भाईयों के हत्या के बाद कैसे हैं हालात? चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात, सोशल मीडिया पर नजर

बता दें कि इस गठबंधन में पप्पू यादव राज्य की पूर्णिया लोकसभा सीट पर दावेदारी कर रहे हैं. इस गठबंधन में पहले से आरजेडी और कांग्रेस के अलावा लेफ्ट समेत कुछ और छोटे दल हैं. गठबंधन में सीट शेयरिंग पर मंथन जारी है, हालांकि अभी तक सहमति नहीं बन पाई है.

ज़रूर पढ़ें