Lok Sabha Election 2024: अकाली दल के साथ गठबंधन पर नहीं बनी बात, पंजाब में अकेले चुनाव लड़ेगी बीजेपी

Lok Sabha Election 2024:  भारतीय जनता पार्टी ने ऐलान किया है कि वह आगामी लोकसभा चुनावों में पंजाब में अकेले उतरेगी. शिरोमणि अकाली दल से गठबंधन को लेकर उसकी बात नहीं बनी है.

Lok Sabha Election 2024

पंजाब में बिना गठबंधन लोकसभा चुनाव लड़ेगी बीजेपी

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने आज मंगलवार को एक बड़ा ऐलान किया है. दरअसल, पार्टी पंजाब में अकेले ही लोकसभा चुनाव लड़ने जा रही है. राज्य की शिरोमणि अकाली दल के साथ गठबंधन को लेकर जारी बात नहीं बन पाई है. पंजाब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने एक वीडियो संदेश के जरिए इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि यह फैसला राज्य में लोगों, पार्टी कार्यकर्ताओं की राय के आधार पर लिया गया है. पंजाब की 13 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होगा.

सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी और शिरोमणी अकाली दल के बीच सीट के बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बन पा रही थी. जिसके कारण दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की प्रक्रिया अंतिम रूप तक नहीं पहुंच सका. अकाली दल ने 9 सीटों की मांग की थी, जबकि बाकि चार सीटें भाजपा के लिए छोड़ने का प्रस्ताव रखी थी. हालांकि, बीजेपी बड़ी हिस्सेदारी की मांग रखी थी.

ये भी पढ़ें- कंगना Vs सुप्रिया विवाद में अब BJP का दावा- पैरोडी और ओरिजनल दोनों का एडमिन एक

2019 में अकाली दल और बीजेपी का गठबंधन

गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी और शिरोमणी अकाली दल NDA के हिस्से के रूप में मिलकर चुनाव लड़ा था. हालांकि, इस चुनाव में दोनों पार्टियों के नतीजे उम्मीद के मुताबिक नहीं रहे थे. इस चुनाव में कांग्रेस राज्य की कुल 13 सीटों में से 8 पर जीत हासिल की. जबकि भाजपा के खाते गुरुदासपुर और होशियारपुर सीटें गई थीं. अकाली दल ने फिरोजपुर और बठिंडा सीटें जीती थीं. आम आदमी पार्टी ने संगरूर सीट पर जीत हासिल की थी.

कृषि कानून को लेकर अलग हुई अकाली दल 

बतात चलें कि शिरोमणि अकाली दल ने केंद्र द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में सितंबर 2020 में भाजपा से अपना गठबंधन तोड़ लिया था. किसानों के व्यापक विरोध के बाद मोदी सरकार ने कानून वापस ले लिए थे. सुनील जाखड़ ने कहा कि पंजाब की जवानी, किसानी, व्यापारी, मजदूरों और सबके भविष्य के लिए भाजपा ने राज्य में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में पंजाब में जो काम हुए हैं, वो किसी और ने नहीं किए.

गौरतलब है कि एमएसपी पर कानून बनाने की मांग को लेकर किसान एक बार फिर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इस पर सुनील जाखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार ने जिन फसलों पर एमएसपी घोषित की है, वे सभी एमएसपी पर खरीदी जा रही हैं और पैसा कुछ ही हफ्तों में किसानों के खातों में पहुंच रहा है.

ज़रूर पढ़ें