Lok Sabha Election 2024: जाटलैंड में कौन पड़ेगा भारी? पहले चरण में होना है यूपी की इन सीटों पर मतदान, जानिए क्या है यहां का सियासी समीकरण

Lok Sabha Election: पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यूपी में नौ सीटों का नुकसान हुआ था. इनमें पांच सीटें पश्चिमी यूपी की थी. सहारनपुर, बिजनौर और नगीना पर बसपा को जीत मिली थी. वहीं, मुरादाबाद और रामपुर पर सपा ने जीत का परचम लहराया था.

Lok Sabha Election 2024

जाटलैंड में कौन पड़ेगा भारी

Lok Sabha Election 2024: पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ सीटों (मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, कैराना, बिजनौर, मुरादाबाद, नगीना, पीलीभीत और रामपुर) पर 19 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. पिछले लोकसभा चुनाव में इन सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) को बड़ा झटका लगा था. गठबंधन से लेकर कई फैक्टर्स ने बीजेपी का सियासी गणित बिगाड़ कर रख दिया था. हालांकि इस बार सीन और समीकरण बिल्कुल अलग है.

यूपी में 9 सीटों का हुआ था नुकसान

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यूपी में नौ सीटों का नुकसान हुआ था. इनमें पांच सीटें पश्चिमी यूपी की थी. सहारनपुर, बिजनौर और नगीना पर बसपा को जीत मिली थी. वहीं, मुरादाबाद और रामपुर पर सपा ने जीत का परचम लहराया था. हालांकि रामपुर सीट के लिए हुए उपचुनाव में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी.

ये भी पढ़ेंः बीजेपी से कटा टिकट तो निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे वरुण गांधी? पीलीभीत से नॉमिनेशन पेपर खरीदने के क्या हैं मायने!

RLD के भरोसे भाजपा, अखिलेश का PDA दांव

जयंत चौधरी की राष्ट्रीय लोकदल (RLD) और बीजेपी के बीच गठबंधन हो गया है. 2019 में जाट वोट बेस वाली आरएलडी विपक्षी गठबंधन के साथ थी. बता दें कि पश्चिमी यूपी की जिन आठ सीटों पर मतदान होना है; वहां जाट, पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक मतदाता चुनाव परिणाम तय करने में निर्णायक भूमिका निभाते हैं. सपा प्रमुख अखिलेश यादव जहां पीडीए- पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं. वहीं, बीजेपी यूपी की सभी 80 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर उतरी है. राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो जाटलैंड को साधने के लिए ही जयंत चौधरी को बीजेपी अपने पाले में लाई है.

पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू

देश की 102 लोकसभा सीटों के लिए बुधवार, 20 मार्च को नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है. नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 27 मार्च है जबकि 19 अप्रैल को मतदान होगा. बता दें कि पहले चरण में कई हाईप्रोफाइल सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

यूपी में कब-कब होगी वोटिंग?

यूपी की 80 सीटों पर सात चरणों में मतदान होगा. भाजपा, अपना दल (एस), रालोद, सुभासपा और निषाद पार्टी मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं, सपा-कांग्रेस ने गठबंधन बनाया है. मायावती की बहुजन समाज पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में अकेले ही लड़ेगी.

  • पहले चरण की वोटिंग: 19 अप्रैल (8 सीट)- सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, नगीना, मुरादाबाद, रामपुर और पीलीभीत में वोटिंग होगी.
  • दूसरा चरण: 26 अप्रैल (8 सीट)- अमरोहा, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, अलीगढ़ और मथुरा में वोटिंग होगी.
  • तीसरा चरण: 7 मई (10 सीट)- संभल, हाथरस, आगरा, फतेहपुर सीकरी, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला और बरेली में मतदान होगा.
  • चौथा चरण: 13 मई (13 सीट)- शाहजहांपुर, खीरी, धौरहरा, सीतापुर, हरदोई, मिश्रिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर और बहराइच में वोटिंग होगी.
  • पांचवां चरण: 20 मई (14 सीट)- मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, जालौन, झांसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, फैजाबाद, कैसरगंज और गोंडा में वोटिंग होगी.
  • छठा चरण: 25 मई (14 सीट)- सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अम्बेडकरनगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीर नगर, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही में मतदान होगा.
  • सातवां चरण: 1 जून (13 सीट)-महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज में वोटिंग होगी.

ज़रूर पढ़ें