Lok Sabha Election: पीएम वाले बयान पर महंत ने दी सफाई, बोले- संसदीय परंपरा का पूर्ण ज्ञान, छत्तीसगढ़ की संस्कृति नहीं समझने वाले कर रहे गलत प्रचार

Lok Sabha Election: डॉ. महंत ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री के पद, संसदीय परंपरा और गरिमा का पूरा ज्ञान है. मैं स्वयं 4 बार सांसद, 5 बार विधायक रहा हूँ, और स्पीकर के साथ-साथ नेता प्रतिपक्ष होने के नाते संवैधानिक गरिमा का भी ख्याल है.

chhattisgarh news

छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेताप्रतिपक्ष चरणदास महंत

Lok Sabha Election: छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष डॉ. चरणदास महंत ने पीएम मोदी को लेकर दिए अपने बयान को लेकर सफाई दी है, उन्होंने कहा है कि राजनांदगांव में दिए गए मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर प्रचारित-प्रसारित किया जा रहा है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि, उन्हें छत्तीसगढ़ की रीति-नीति व संस्कृति का शायद ज्ञान नहीं है, इसलिए उनके सहज व विशुद्ध छत्तीसगढ़िया वाक्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है.

छत्तीसगढ़ कि संस्कृति नहीं समझने वाले कर रहे गलत प्रचार

चरणदास महंत ने पीएम पर दिए अपने बयान को लेकर सफाई दी है, उन्होंने कहा कि उन्हें संसदीय परंपरा का पूर्ण ज्ञान है, छत्तीसगढ़ की संस्कृति को नहीं समझने वाले गलत प्रचार कर रहे है. मुहवरा, ठीकरा फोड़ना मतलब, जिम्मेदारी वहन करना होता है, जिसे छत्तीसगढ़ी में मुड़फोड़ना ही कहा जाता है, उन्होंने कहा कि विशुद्ध छत्तीसगढ़िया वाक्यों के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है. छत्तीसगढ़ के नेता प्रतिपक्ष डॉ. चरणदास महंत ने अपने बयान को तोड़-मरोड़कर प्रचारित-प्रसारित करने वालों को स्पष्ट किया है, कि उन्हें छत्तीसगढ़ की रीति-नीति व संस्कृति का शायद ज्ञान नहीं है, इसलिए उनके सहज व विशुद्ध छत्तीसगढ़िया वाक्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें – बीजेपी ने सोशल मीडिया पर चलाया ‘पहली लाठी मुझे मार’ अभियान, सीएम साय ने भी किया पोस्ट

छत्तीसगढ़िया वाक्यों का दिया उदाहरण

डॉ. महंत ने कहा कि मैं विशुद्ध रूप से छत्तीसगढ़िया संस्कृति में रचा-बसा हूूं. छत्तीसगढ़ की भाषा-शैली का उपयोग करते समय बीच-बीच में निर्धारित प्रयोग लक्षणा-व्यंजना में आने वाले शब्दों के साथ बात करता हूं. छत्तीसगढ़ी में एक प्रचलित वाक्य जैसे-लउठी धर के दउड़ाना…, मार न टूरा ला… जैसे कई वाक्य सहज रूप से उपयोग में लाए जाते हैं, लेकिन जो लोग छत्तीसगढ़ की रीति-नीति, भाषा संस्कृति को नहीं समझते, ऐसे मीडिया प्रतिनिधियों के द्वारा गलत ढंग से प्रस्तुत किया जा रहा है.

मुझे पद की गरिमा का पूरा ज्ञान है – चरण दास महंत

डॉ. महंत ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री के पद, संसदीय परंपरा और गरिमा का पूरा ज्ञान है. मैं स्वयं 4 बार सांसद, 5 बार विधायक रहा हूँ, और स्पीकर के साथ-साथ नेता प्रतिपक्ष होने के नाते संवैधानिक गरिमा का भी ख्याल है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कई बार व्यक्तिगत मुलाकातें हुई है, और वे मुझे भी व्यक्तिगत तौर पर जानते हैं. डॉ. महंत ने मोदी जी के साथ की एक फोटो साझा करते हुए कहा कि जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे और मैं भारत सरकार में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री था तो उनके ही प्रदेश गुजरात के आणंद में आयोजित कार्यक्रम में काफी आत्मीयता से मुलाकात हुई. ऐसे व्यक्ति जो केवल भाजपा के नहीं बल्कि हर दल के लिए प्रधानमंत्री हैं, उन पर गलत टिप्पणी करने का तो सवाल ही नहीं उठता. मेरी भावनाओं को गलत ब्यानी कर ओछी राजनीति की आड़ लेकर मुझ जैसे छत्तीसगढ़िया की छवि और शीर्ष नेताओं के साथ संबंधों को खराब करने का काम न करें.

ज़रूर पढ़ें