MP News: उज्जैन में बाबा महाकाल में रंगपंचमी का उत्साह, टेसू के फूलों के रंग से खेली गई होली

Ujjain Rangpanchmi special: लगभग 15 दिन पहले से ही महाकालेश्वर मंदिर में होली और रंग पंचमी पर्व को लेकर तैयारियां शुरू हो जाती है.

ujjain baba mahakal

रंग पंचमी के शुभ अवसर पर उज्जैन के महाकाल मंदिर में टेसू के फूलों से होली खेली गई

उज्जैन: होली के त्योहार के बाद अब पूरे देश में रंग पंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है. देश के साथ प्रदेश मे भी रंग पंचमी मनाई जा रही है. बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में भी रंगपंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है. महाकालेश्वर मंदिर में होली का खास उत्सव मनाया गया. यहाँ शिव भक्तों ने जमकर होली खेली.

टेसू के फूलों के रंग से खेली गई होली

महाकालेश्वर मंदिर में रंगपंचमी के पर्व के मौके पर भगवान महाकाल को टेसू के फूलों के रंग से होली खेली. इसके अलावा, भक्तों ने भगवान के साथ खेली जा रही होली का आनंद लिया और आरती में सम्मिलित होकर अनांदित हो उठे.

ब्रह्म मुहूर्त में हुई भस्म आरती

रोजाना की तरह ही पुजारी द्वारा बाबा महाकाल की भस्म आरती की गई. बाद में भगवान महाकाल को टेसू के फूल अर्पित किए गए. साथ ही दूध, दही और जल और विशेष कर भांग से भगवान महाकाल का अभिषेक किया गया. फिर फलों के रस से स्नान कराया गया.

ये भी पढ़े: जबलपुर से पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ेंगे बीजेपी उम्मीदवार आशीष दुबे और कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश यादव, जानें इस सीट का समीकरण

रंग पंचमी का पर्व में देशभर के श्रद्धालु आते हैं उज्जैन

रंगपंचमी का पर्व महाशिवरात्रि के बाद आता है. लगभग 15 दिन पहले से ही महाकालेश्वर मंदिर में होली और रंग पंचमी पर्व को लेकर तैयारियां शुरू हो जाती है. रंगपंचमी को लेकर भक्तों में काफी उत्साह रहता है. देशभर से भक्त भगवान महाकाल के साथ होली खेलने के लिए उज्जैन आते हैं. वर्ष भर में एक बार ऐसा अवसर आता है जब भक्त और भगवान के बीच होली पर्व की रंगत देखने को मिलती है. होली और रंगपंचमी  को आने वाले भक्तों की संख्या साल दर साल बढ़ रही है. इस भक्तों ने रंगपंचमी जमकर होली खेली.

प्राकृतिक रंगों से दिया गया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

टेसू के फूलों से बनने वाले रंग को महाकालेश्वर मंदिर में ही तैयार किया जाता है. साथ ही टेसू के फूलों से होली खेल कर प्रकृति प्रेम और पर्यावरण का भी संदेश दिया जाता है.

 

ज़रूर पढ़ें