Lok Sabha Election 2024: सपा ने छह और उम्मीदवारों की सूची की जारी, जानें कहां से किसे मिला टिकट

इससे पहले सपा 43 नामों का एलान कर चुकी थी, छठी सूची के बाद से अब यह संख्या 49 हो गई है. हालांकि, यह संख्या वास्तविकता में 48 है, क्योंकि इंडिया गठबंधन होने के बाद वाराणसी लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में चली गई है तो पार्टी को वहां से अपना उम्मीदवार हटाना होगा.

Akhilesh Yadav

सपा प्रमुख अखिलेश यादव

Lok Sabha Election 2024: समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर अपनी एक और लिस्ट जारी कर दी है. सपा की ओर से 6 नामों की घोषणा की गई है, जिसमें संभल से जियाउर्रहमान बर्क को उम्मीदवार बनाया गया है. वहीं बागपत से मनोज चौधरी को टिकट दिया गया है. गौतमबुद्ध नगर से राहुल अवाना, पीलीभीत से भगवत सरन गंगवार, घोसी से राजीव राय को मैदान में उतारा गया है.

49 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान

बता दें कि इससे पहले सपा 43 नामों का एलान कर चुकी थी, छठी सूची के बाद से अब यह संख्या 49 हो गई है. हालांकि, यह संख्या वास्तविकता में 48 है, क्योंकि इंडिया गठबंधन होने के बाद वाराणसी लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में चली गई है तो पार्टी को वहां से अपना उम्मीदवार हटाना होगा. इसके अलावा संभल से सांसद रहे शफीकुर्रहमान बर्क का निधन हो जाने के बाद सपा ने उनके पोते जियाउर्रहमान बर्क को उम्मीदवार घोषित किया है.

21 फरवरी को इंडिया ब्लॉक के दोनों सदस्यों द्वारा चुनावी गठबंधन की घोषणा के बाद एसपी ने पहले ही उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए 17 लोकसभा सीटें छोड़ दी हैं.

यह भी पढ़ें: Delhi Liquor Scam: ‘क्यों नहीं पेश हो रहे CM’, केजरीवाल की याचिका पर दिल्ली HC ने किया सवाल, ED से भी मांगा जवाब

शिवपाल यादव बदायूं से लड़ रहे हैं चुनाव

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें हैं. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस जिन 17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी उनमें रायबरेली और अमेठी शामिल हैं, जिन्हें कभी पार्टी का गढ़ माना जाता था और वाराणसी जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निर्वाचन क्षेत्र है. 20 फरवरी को सपा ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने पांच उम्मीदवारों की तीसरी सूची घोषित की थी, जिसमें वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव को बदायूं संसदीय क्षेत्र से मैदान में उतारा गया था.

समाजवादी पार्टी ने 19 फरवरी को उत्तर प्रदेश से 11 और उम्मीदवारों की घोषणा की थी, जिसमें डॉन से नेता बने मुख्तार अंसारी के भाई और बसपा सांसद अफजाल अंसारी भी शामिल थे. 30 जनवरी को एसपी ने राज्य की 16 लोकसभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा की थी, जिसमें पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई अभय राम यादव के बेटे धर्मेंद्र यादव को बदायूं से मैदान में उतारा गया था.

ज़रूर पढ़ें