IT Action On Congress: कांग्रेस से हो सकती है 2500 करोड़ की वसूली, कमलनाथ भी आयकर विभाग के रडार पर!

IT Action On Congress: आयकर विभाग का कहना है कि 2013 से 2019 के बीच में कांग्रेस को कम से क 626 करोड़ कैश में मिले हैं और इसका टैक्स नहीं दिया गया है.

IT Action On Congress

कांग्रेस से हो सकती है 2500 करोड़ तक की वसूली

IT Action On Congress: देश में 18वीं लोकसभा के लिए 19 अप्रैल से पहले चरण के मतदान शुरू हो जाएंगे. इस बीच देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं. जहां एक ओर ‘INDI’ गठबंधन में शामिल दलों के साथ पार्टी को समझौता करना पड़ रहा है, तो वहीं दूसरी ओर आयकर विभाग लगातार नोटिस जारी कर रहा है. इस मामले पर कांग्रेस का कहना है कि साजिश के तहत पार्टी को चुनाव से पहले फंसाया जा रहा है. आयकर विभाग का दावा है कि उसके पर्याप्त सबूत हैं.

2013 से 2019 के बीच का जुड़ा है मामला

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग कांग्रेस से कम से कम 2500 करोड़ तक की वसूली कर सकता है. दअसल, आयकर विभाग का कहना है कि 2013 से 2019 के बीच में कांग्रेस को कम से कम 626 करोड़ कैश में मिले हैं और इसका टैक्स नहीं दिया गया है. ऐसे में आयकर अब नियमों के हिसाब से वसूली करने की प्रक्रिया कर रहा है. इसी मामले में इनकम टैक्स ने अप्रैल, 2019 में कई ठिकानों पर छापेमारी भी कि थी. इस दौरान दो कंपनियों से जुड़े कैश रिसिप्ट मिले थे. इसमें एक कंपनी का नाम मेघा इंजीनियरिंग(Megha Engineering) और दूसरी को कांग्रेस नेता कमलनाथ के करीबी की बताई गई.

लेन-देन के लिंक जोड़ने के लिए पर्याप्त सबूत मौजूद- IT

सूत्रों के अनुसार बाद में आगे की जांच में पता चला है कि एमपी के पूर्व सीएम कमलनाथ से जुड़ी हुई कंपनी से भी कांग्रेस को पैसा मिला है और यह पैसे भ्रष्टाचार के जरिए जुटाए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक दावा किया गया कि एमपी में कई बड़े अधिकारियों से रिश्वत ली गई, जिसें मंत्री तक शामिल रहे. आयकर विभाग के के मुताबिक उनके पास इन लेन-देन के लिंक जोड़ने के लिए पर्याप्त सबूत भी मौजूद हैं. ‘न्यूज 18’ चैनल के अनुसार आयकर विभाग के पास 20 करोड़ के एक ऐसे पेमेंट की भी जानकारी है जो सीधे कमलनाथ के जरिए कांग्रेस मुख्यालय को गए हैं.

यह भी पढ़ें: MP News: छिंदवाड़ा में कांग्रेस को एक और झटका, कमलनाथ के करीबी विधायक कमलेश शाह BJP में हुए शामिल

कांग्रेस ने किया विरोध

साथ ही आयकर तो कानून का हवाला भी दे रहा है. आयकर विभाग का कहना है कि सेक्शन 13A के अंतर्गत कोई भी राजनीतिक पार्टी 2 हजार से ज्यादा कैश में नहीं ले सकती है, लेकिन कांग्रेस की ओर से इन नियमों की अनदेखी की गई है. वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इन कार्रवाई पर खुली चुनौती दे रहे हैं. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘X’ पर राहुल गांधी ने लिखा कि जब सरकार बदलेगी तो ‘लोकतंत्र का चीरहरण’ करने वालों पर कार्रवाई जरूर होगी और ऐसी कार्रवाई होगी कि दोबारा फिर किसी की हिम्मत नहीं होगी, यह सब करने की

ज़रूर पढ़ें