सुरक्षा एजेंसियों को मिली बड़ी कामयाबी, ISIS के इंडिया हेड हारिस फारूकी और उसका सहयोगी अनुराग गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, आईएसआईएस इंडिया प्रमुख और उसके एक सहयोगी को बांग्लादेश से पार करने के बाद बुधवार को असम के धुबरी जिले में गिरफ्तार किया गया.

आईएसआईएस इंडिया प्रमुख और सहयोगी गिरफ्तार

आईएसआईएस इंडिया प्रमुख और सहयोगी गिरफ्तार

इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) एक इस्लामी संगठन है. इसने दुनियाभर में नेटवर्क तैयार कर रखा है. इसका नेटवर्क इंडिया में भी काम कर रहा है. अब असम पुलिस ने इसके इंडियन नेटवर्क को तोड़ने में बड़ी कामयाबी हासिल की है. दरअसल, आईएसआईएस के इंडिया प्रमुख हारिस फारूकी को असम से गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं उसके एक सहयोगी रेहान उर्फ अनुराग सिंह को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. ये दोनों आरोपी कौन हैं और कैसे गिरफ्तार किया गया है, यहां वह सब कुछ है जो आपको जानना चाहिए…

ISIS इंडिया चीफ को असम पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, आईएसआईएस इंडिया प्रमुख और उसके एक सहयोगी को बांग्लादेश से पार करने के बाद बुधवार को असम के धुबरी जिले में गिरफ्तार किया गया. असम पुलिस के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रणबज्योति गोस्वामी ने एक बयान में कहा, “उन दोनों की पहचान सुनिश्चित की गई और यह पाया गया कि चकराता, देहरादून का आरोपी हारिस फारूकी उर्फ हरीश अजमल फारुखी भारत में आईएसआईएस का प्रमुख है. उस पर काफी समय से पुलिस की नजर थी. आज उसे असम में गिरफ्तार कर लिया गया है.

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election: ‘2024 तो सिर्फ झांकी, 2047 की तैयारी’, BJP का दावा, कांग्रेस के सामने यक्ष प्रश्न- कब बहुरेंगे दिन?

हारिस फारूकी का करीबी रेहान भी गिरफ्तार

सीपीआरओ ने कहा कि हारिस फारूकी के साथ उसके सहयोगी अनुराग सिंह उर्फ ​​रेहान को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. अनुराग ने पहले इस्लाम धर्म अपना लिया, जबकि उसकी पत्नी बांग्लादेशी नागरिक है. बताया गया कि इन दोनों को गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया गया.

हारिस फारूकी और रेहान को क्यों गिरफ्तार किया गया है?

पुलिस के मुताबिक, आईएआईएस के दोनों सदस्य इंडिया में आतंकी फंडिंग और आतंकी कृत्यों को अंजाम देने की साजिशों को आगे बढ़ा रहे थे. पुलिस अधिकारी ने कहा कि उनके खिलाफ एनआईए, दिल्ली, एटीएस और लखनऊ सहित अन्य स्थानों पर कई मामले लंबित हैं. उन्होंने कहा, “एसटीएफ, इन आरोपियों के खिलाफ आगे की कार्रवाई करके एनआईए को सौंप देगी. “

ज़रूर पढ़ें