Jharkhand News: CM हेमंत सोरेन को खोजने वाले के लिए 11 हजार रुपए का इनाम, जानिए किसने किया ये ऐलान

Jharkhand News: सीएम हेमंत सोरेन के दिल्ली स्थित आवास पर सोमवार को ईडी ने छापेमारी की थी.

CM Hemant Soren

हेमंत सोरेन (फोटो- सोशल मीडिया)

Jharkhand News: झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन की तलाश तेज हो गई है. बीते दो दिनों से बीजेपी के ओर से उनके फरार होने का दावा किया जा रहा है. दूसरी ओर उनके पार्टी नेता और कार्यकर्ता बचाव में आ गए हैं. लेकिन झारखंड के बीजेपी अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सोरेन पर जमकर जुबानी हमला कर दिया है. अब उन्होंने हेमंत सोरेन को खोजने वाले को 11 हजार रुपए देने का ऐलान किया है.

बाबूलाल मरांडी ने मीडिया से बात करते हुए मंगलवार को कहा, ‘मैंने कहा है कि कोई भी व्यक्ति मुख्यमंत्री को खोजकर लाएगा तो हमारे ओर से उसको इनाम दिया जाएगा. निशिकांत दुबे को क्या पता है मुझे नहीं मालूम है लेकिन राज्य की जनता उन्हें खोज रही है. किसी को नहीं पता है, उनके लोगों को भी कुछ पता नहीं है.उनके लोग ही नहीं बता पा रहे हैं. वो तो अनुमान लगाए होंगे लेकिन हम तो डीजीपी या पुलिस जब बताएगा तभी मानेंगे.’

सीएम के लोकेशन की जानकारी नहीं

इससे पहले सोमवार को बाबूलाल मरांडी ने सोशल मीडिया के एक्स पर लिखा, ‘झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन विगत 2 दिनों से लापता हैं. राज्य के पुलिस महानिदेशक और इंटेलिजंस विभाग को सीएम के लोकेशन की जानकारी नहीं होना गंभीर मसला है. अवैध संपत्ति अर्जित करने और घोटाले का आरोप हेमंत सोरेन के उपर व्यक्तिगत रूप से लगा हुआ है, लेकिन ईडी को इसका जबाव मुख्यमंत्री सचिवालय की ओर से भेजा जा रहा है.’

ये भी पढ़ें: Jharkhand News: CM हेमंत सोरेन को खोजने वाले के लिए 11 हजार रुपए का इनाम, जानिए किसने किया ये ऐलान

उन्होंने लिखा, ‘हेमंत सोरेन के अचानक से लापता हो जाने से राज्य में संवैधानिक संकट की स्थिति बनी हुई है. जो कोई भी मुख्यमंत्री की सही जानकारी देगा, उसे हमारे ओर से उचित ईनाम दिया जाएगा.’  बता दें कि कथित जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी सीएम हेमंत सोरेन के खिलाफ जांच कर रही है. बीते दिनों उनसे पूछताछ भी हुई थी.

सोमवार को ईडी ने उनके दिल्ली आवास से 6 लाख रुपए कैश के तौर पर बरामद किए और दो कारें भी जब्त कीं हैं. हालांकि सूत्रों की माने तो अभी तक सीएम हेमंत सोरेन का कोई पता नहीं है जबकि ईडी लगातार उनकी तलाश कर रही है.

ज़रूर पढ़ें