MP News: 22 मार्च से शुरु होगा भोजशाला का ASI सर्वे, मुस्लिम पक्ष के वकील ने जताई आपत्ति, कहा- हमें नोटिस की कॉपी नहीं मिली

Dhar Bhojshala ASI Survey: 5 सदस्यीय दल भोजशाला का सर्वे करेगा, जिसमें अलग-अलग बिंदुओं पर सर्वे कार्रवाई होगी.

Bhojshala_ image

भोजशाला का एएसआई सर्वे 22 मार्च से शुरु होगा.

इंदौर: भोजशाला का वैज्ञानिक सर्वे 22 मार्च से होने जा रहा है. इसके लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने एक पत्र जारी किया है, जिसमें इंदौर कमिश्नर, कलेक्टर धार, और एसपी धार को संलग्न किया गया है. इस पत्र में सर्वे के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए बंदोबस्त करने की बात कही गई है.

बता दें कि हाईकोर्ट द्वारा संस्था हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस की याचिका पर सुनवाई के बाद, भोजशाला का सर्वे करने के आदेश जारी किए गए थे. इसमें 5 सदस्यीय दल भोजशाला का सर्वे करेगा, जिसमें अलग-अलग बिंदुओं पर सर्वे कार्रवाई होगी. पत्र में पुलिस और प्रशासन को सर्वे टीम के लिए सुरक्षा प्रदान करने की भी बात कही गई है. एएसआई की पांच सदस्यीय टीम 22 मार्च से भोजशाला का सर्वेक्षण आरंभ करेगी.

ये भी पढ़े: हाई कोर्ट की इंदौर बेंच का बड़ा फैसला, धार की भोजशाला का होगा ASI सर्वे, जानिए क्या है विवाद

मुस्लिम पक्ष के वकील ने जताई आपत्ति

इस मामले में, विस्तार न्यूज़ के माध्यम से जानकारी लगने पर मुस्लिम पक्ष के वकील अजय बगड़िया ने इस पर आपत्ति जताई है. बगड़िया ने कहा कि हाई कोर्ट के नोटिस की कॉपी अभी तक मुस्लिम पक्ष को प्राप्त नहीं हुई है. अगर यह निष्पक्ष जांच है और इस पर पक्षपात का आरोप ना लगे तो नोटिस दोनों पक्षों को दिया जाए, ताकि दोनों पक्ष अपनी बात प्रभावी तरीके से रख सके. नोटिस देने के बाद जब तक दोनों पक्षों की मौके पर उपस्थित रहने की स्वीकृति नहीं आती है, तब तक यह सर्वेक्षण नहीं किया जाना चाहिए. हाई कोर्ट का आदेश उस मामले में हुआ है, जिसमें हिंदू और मुस्लिम पक्ष आमने-सामने पार्टी थे. ऐसे में यह आवश्यक हो जाता है कि दोनों पक्षों की स्वीकृति ली जाए. इस मामले में फौरन एएसआई को एक चिट्ठी लिखकर कहा जायेगा कि हमें इस मामले में नोटिस दिए बिना आप वहां पर सर्वेक्षण की कार्रवाई न करें, ताकि हम वहां अपनी उपस्थिति दर्ज करवा सके. नोटिस देने के बाद पर्याप्त समय भी दिया जाना चाहिए.

 

 

ज़रूर पढ़ें