MP News: इंदौर में हुए ट्रिपल मर्डर की कहानी ने उड़ाए सबके होश, आरोपी ने मैसेज में बताई सच्चाई, जानकर रह जाएगें हैरान

Double Murder in Indore: शुरुआत में माना जा रहा था कि एकतरफा प्रेम में अभिषेक ने स्नेहा और दीपक की जान ली है. लेकिन जब पुलिस ने अभिषेक के मोबाइल की जांच की तो उसमे जो मैसेज मिला उसने सभी के होश उड़ा दिए.

Accused Abhishek Yadav, Sneha Jat

आरोपी अभिषेक यादव, स्नेहा जाट (फोटो)

Indore: एमपी के इंदौर से लव.. सेक्स.. और धोखा की एक दर्दनाक कहानी सामने आई. यहां भंवरकुआं इलाके में गुरुवार दोपहर स्वामी नारायण मंदिर परिसर में स्नेहा जाट और दीपक जाट की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हत्या की इस वारदात को अंजाम देने वाले अभिषेक यादव ने भी घटनास्थल से चंद कदम दूरी पर स्थित अरिहंत कॉलेज में जाकर खुद को गोली मारकर जान दे दी.

क्या है पूरा मामला

पूरा मामला इंदौर के स्वामी नारायण मंदिर का है. जहां स्नेहा और दीपक मंदिर में मिलने सीहोर निवासी अभिषेक यादव वहा पहुंच गया. अभिषेक, स्नेहा और दीपक ने मंदिर में बैठकर आधे घंटे तक बातें की. इस दौरान विवाद की स्थिति बनी तो अभिषेक ने पिस्टल से दोनों पर मंदिर में फायर कर दिया. स्नेहा और दीपक की घटनास्थल पर मौत हो गई. फिर कुछ दूर जाकर अभिषेक ने खुद को गोली मार ली.

मोबाइल की जांच से खुला राज

शुरुआत में माना जा रहा था कि एकतरफा प्रेम में अभिषेक ने स्नेहा और दीपक की जान ली है. लेकिन जब पुलिस ने अभिषेक के मोबाइल की जांच की तो उसमे जो मैसेज मिला उसने सभी के होश उड़ा दिए. अभिषेक ने वारदात के बाद अपने परिवार, दोस्तो, रिश्तेदारों और स्नेहा के परिजन को मैसेज कर खुद की और स्नेहा की पूरी प्रेम कहानी बता डाली. इस कहानी में लॉकडाउन के समय फोन पर बात करते हुए एक दूसरे से अत्यधिक प्यार होने, दो बार मंदिर में शादी करने, होटल, दोस्तो के कमरे और अभिषेक के कमरे पर 550 से अधिक बार शारीरिक संबंध बनने, एक दूसरे के बिना जान देने, सावन सोमवार और करवा चौथ का व्रत करने, कोर्ट में शादी करने की योजना, हनी मून पर जाने की योजना, एक दूसरे से बहुत अधिक अटैचमेंट होने और फिर अंत में दोनो के बीच तीसरे के आने की बात लिखी है.

ये भी पढ़े: मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव पहुंचे नर्मदापुरम, BJP प्रत्याशी दर्शन सिंह चौधरी के नामांकन में रहे मौजूद

यह लिखा मैसेज में

अभिषेक ने मैं आप सब को स्नेहा और मेरे बारे में बताने जा रहा हूं. तो आप मैसेज को ध्यान से पढ़ना में जो भी बोलूंगा आपको उसका स्क्रीनशॉट का प्रूफ भी दूंगा. स्नेहा और में दिसंबर 2019 में रिलेशनशिप में आए जब रिलेशन में आए तो मैने स्नेहा को माना किया था की मैं शादी नही करूंगा ऐसे ही रिलेशनशिप में रहना है तो रह सकते है वरना कोई बात नही पर उसने कहा नहीं अगर शादी करो तो ही रिलेशनशिप में रहूंगी वरना नहीं रहूंगी मैं फिर उसके बाद हमारी कुछ दिनों तक बाते बंद रही.

कुछ दिनों बाद स्नेहा ने कहा ठीक है शादी नही करेंगे अपन रिलेशनशिप को आगे बढ़ाते है मैने कहा ठीक है उस टाइम हमारी ज्यादा बात नहीं हुआ करती थी उसके बाद लॉकडाउन लग गया और हमारी बाते ज्यादा से ज्यादा होने लगी दिन भर एक दूसरे से बात किया करते थे जिससे हमारे बीच प्यार बढ़ गया और एक दूसरे से ज्यादा आटेचमेंट हो गया.

उसके बाद लॉकडाउन खुला और हमारा मिलना जुलना स्टार्ट हो गया स्टार्टिंग में हम लोग रीजनल पार्क या कैफे में मिला करते थे. स्नेहा मेरे लिए हमेशा कुछ न कुछ गिफ्ट लेकर आया करती थी और मुझसे कुछ भी गिफ्ट नही लेती थी कहती थी मैं घर नही ले जा सकती हूं.  मिलना जुलना चलता रहा हमारा तो हमारे बीच नजदीकियां बढ़ने लगी तो हम दोनो ने डिसाइड किया की प्राइवेट होटल या रूम में मिलते है. मैने भोलाराम मार्ग पर एक होटल में रूम बुक किया और हम वहा पर मिले रूम में हमारे बीच फिजिकल रिलेशन भी बने शारीरिक संबंध बनाने के बाद हमारे बीच प्यार और ज्यादा बढ़ गया.

जाति का बंधन की बात आई सामने

अभिषेक ने आगे मैसेज में लिखा कि स्नेहा मुझ पर शादी करने का दबाव बनाने लगी वो कहने लगी अब मेरे साथ सब कुछ कर लिया तो मुझसे शादी करनी पड़ेगी नही करी तो मैं मर जाऊंगी ऐसा कर लूंगी वैसा कर लूंगी.  मैने कहा कि अपनी कास्ट अलग है शादी नही हो पाएगी और घर वाले नही मानेंगे पर स्नेहा जिद पर अड़ गई और कहने लगी ऐसे तो आप मुझे छोड़ दोगे कभी भी आपने से सब कुछ कर लिया मेरे साथ इसलिए मुझे शादी करनी है. चलो मंदिर में नही तो आप मेरा मारा हुआ मुंह देखोगे मुझे छोड़ दिया तो में आपके घर आ जाऊंगी. मै टाइम डर गया और मंदिर में जाकर हम दोनो ने शादी कर ली.

शादी करने के बाद वो मुझे हसबैंड के तरह बात करने लगी मुझे प्यार से हबी बोलने लगी सुबह उठते से ही मुझे टेक्स्ट मैसेज करने लगी. गुड मॉर्निंग हबी वो मुझे अपना हसबैंड मानने लगी और मेरी हसबैंड की तरह मेरी केयर करने लगी. उसके केयर करने से मेरे अंदर भी उसके लिए फीलिंग्स आने लगी.

ये भी पढ़े: मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव पहुंचे नर्मदापुरम, BJP प्रत्याशी दर्शन सिंह चौधरी के नामांकन में रहे मौजूद

दूसरी बार मंदिर में की शादी

अभिषेक ने अपने प्यार की कहानी को मैसेज में बताते हुए लिखा कि हम दोनो महीने में 5 से 6 बार होटल में मिलने लगे और बाकी के टाइम हम इंदौर के आस-पास घूमा करते थे. एक दिन हम लोग देवास दर्शन करने गए तो वहा वहा पर स्नेहा कहने लगी कि माताजी के सामने मेरी मांग में सिन्दूर भरो मैने कहा एक बार मंदिर में शादी कर ली फिर अब क्यों तो कहनी लगी यही की बात अलग मांग में सिन्दूर भरो वरना में कुछ कर लूंगी, तो फिर मेने माताजी के सामने उसकी मांग में सिंदूर भर दिया एसे करके हमारी 2 बार शादी हो गई.

स्नेहा मेरे लिए फिर सारे उपवास करने लगी जो की एक पत्नी आपने पति के लिए करती है वो सारे सावन सोमवार का उपवास करने लगी उसके बाद हर साल करवा चौथ का उपवास करने लगी. हमारा रिलेशन बहुत मजबूत हो गया और हम दोनो बहुत हसीं खुशी से एक दूसरे के साथ रहने लगे. उसके बाद स्नेहा कहने लगी की कोर्ट मैरिज कर लेते अपन मैने माना किया की नही अपन ऐसा नही करेंगे. तो कहने लगी कर लेते अपन कोर्ट मैरिज कभी घर वाले नही माने तो आप बता देंगे की हमने कोर्ट मैरिज कर ली है और कभी मन गए तो नही बताएंगे पर मैने उसको जैसे तैसे उसको समझाया.

कई बार शारीरिक संबध बनाने की बात का जिक्र

अभिषेक ने अपने मैसेज में बताते हुए लिखा कि हम दोनों की बॉन्डिंग बहुत ज्यादा अच्छी हो गई हम डेली मिला करते थे. स्नेहा मेरी ज्यादा केयर करती थी हसबैंड के जैसे ट्रीट करती थी. रोज जब भी बात होती तो शादी की बात किया करती थी की अपन शादी के बाद ऐसा करेंगे वैसा करेंगे यहां घूमने चलेगे वहा घूमने चलेंगे हनीमून पर यह जायेंगे. ऐसा करेंगे शादी के बाद के सपने दिखाने लगी रोज रोज यही बाते करने से मेरे मन में भी कही न कही उसके जैसे ही फीलिंग आने लगी मतलब में भी उसको अपनी वाइफ मानने लगा और सपने देखने लगा की स्नेहा सही बोल रही अपन ऐसा ही करेंगे. कहने लगी कभी तुमने अब मुझे छोड़ दिया तो में उसी दिन मर जाऊंगी मेने कहा में तो नही छोडूंगा तेरा पता नही सब कुछ अच्छा चल रहा था हमारा रिलेशन 500 से 550 बार हमारे बीच शारीरिक संबंध बने. कभी होटल में या फिर दोस्तो के फ्लैट पर फिर स्नेहा के कहने पर मेने एक पर्सनल रूम रेंट से लिया वहां पर मिलने लगे.

किसी तीसरे इंसान के आने का जिक्र

इसके बाद अभिषेक ने अपने मैसेज में लिखा कि स्नेहा हमेशा उसके घर के बारे में बात किया करती थी. सब कुछ बताया करती थी उसके घर के बारे में हर एक बात शेयर करती थी. उसके पापा के बारे में उसकी मम्मी के बारे में उसकी दीदी के बारे में सब कुछ बताया था. उसने मुझे हमारा रिलेशन बहुत अच्छा चल रहा था सब कुछ ठीक था हसीं खुशी दोनो बहुत ज्यादा अच्छे से रहते थे. बहुत घूमते थे हम लोग 12 से 13 बार हम लोग उज्जैन घूम कर 7 से 8 बार देवास महेश्वर आस पास के सारे वाटरफॉल इंदौर की ऐसी कोई जगह नहीं जहा पर हम दोनो गए न हो फिर हम दोनो के बीच कोई तीसरा इंसान आ जाता है.

स्नेहा और दीपक की दोस्ती पर आपत्ति जताई थी आपत्ति

अभिषेक को स्नेहा और दीपक की दोस्ती पर आपत्ति थी. उन दोनो के मिलने पर अभिषेक ने कई बार नाराजगी जताते हुए दोनो को जान से मारने की धमकी भी दी थी, लेकिन स्नेहा और दीपक ने उसे हल्के में ले लिया. आज जब दोनो स्वामी नारायण मंदिर में मिलने पहुंचे तो अभिषेक भी वहा पहुंच गया और इसका नतीजा तीनों की मौत के तौर पर सबके सामने है.
अब तक हर कोई जिस एंगल पर सोच रहा था, वह अभिषेक का मैसेज सामने आने के बाद से बदल गया है. हालांकि पुलिस यह जानने का जरूर प्रयास कर रही है कि अभिषेक पिस्टल कहा से और किससे लेकर आया था.

ज़रूर पढ़ें