MP News: आनलाइन गेम के चक्कर में लुट गए 10 लाख, अब पुलिस कर रही मामले की जांच

Cyber Crime: बदमाशों ने टास्क पूरा करने के बाद उज्जैन में रहने वाले राहुल सोनी से कमीशन के नाम पर 10.21 लाख रुपए लिए.

fraud-prevention

प्रतीकात्मक इमेज

भोपाल: ठग इस समय साइबर क्राइम के नये-नये तरीके अपना रहे हैं फिर चाहे वो ग्रुप या चैनल से जुड़ने की लिंक हो या ज्यादा पैसे कमाने लालच. उज्जैन में साइबर क्राइम का मामला सामने आया है. इस बार ठगों ने अपना शिकार एक दम्पति को बनाया और लालच देकर 10 लाख का चूना लगा दिया. बदमाशों ने एक दंपति से 10 लाख रुपए की ठगी की है. उन्होंने उज्जैन के नागझिरी थाना क्षेत्र में रहने वाले दंपति को ऑनलाइन गेमिंग के माध्यम से पहले कुछ पैसे कमाने का बोलकर फिर बड़ी रकम के लिए धोखा दिया. नागझिरी थाना पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

यह है पूरा मामला

राहुल सोनी, जो कि साईधाम में रहते हैं, उन्होनें पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि 23 मार्च को उनकी पत्नी सारिका को एक मैसेज मिला जिसमें ऑनलाइन पैसे कमाने का तरीका बताया गया. सोनी और उनकी पत्नी ने तीन बार 150-150 रुपए कमाए, लेकिन फिर उन्हें ठग लिया गया. दोनों लोग अगले टास्क प्रो मोड में शामिल हो गए. इसमें टेलीग्राम लिंक भेजी गई, जिस पर क्लिक कर आनलाइन टास्क पूरे करने को कहा गया. बदमाश सेकेंड फेज में क्रेडिट स्कोर बढ़ा हुआ बताकर बार-बार रुपए जमा करने को कहते रहे. धीरे धीरे बदमाशों ने टास्क पूरा करने के नाम 10.21 लाख रुपए जमा करा लिए, और कहा ये पैसे कमीशन के साथ वापस होंगे लेकिन बाद मे कोई पैसे नही मिले. जब राहुल ने पैसे के लिए पूछा, तो बदमाशों ने उन्हें और पैसे जमा करने का कहा. इस पर सोनी ने पुलिस में शिकायत की. तब पूरा मामला सामने आया.

ये भी पढे़: पूरे एक साल का हो गया भारत की धरती पर जन्मा शावक, कूनो नेशनल पार्क में खुशी का माहौल

ऑनलाइन ठगी से बचने के उपाय:

साइबर स्कैम से बचने के लिए आपको कुछ बातों को ध्यान मे रखना जरुरी है. जैसे कि अनजान टेलीग्राम प्रोफाइल, ग्रुप या चैनल से जुड़ने से बचें और भेजी गई लिंक पर क्लिक न करें, क्रिप्टो करेंसी निवेश के लालच में रजिस्ट्रेशन फीस और एडवांस ट्रेडिंग मनी भेजने से बचें, टेलीग्राम लिंक के माध्यम से व्यक्तिगत जानकारी न भरें,अकाउंट की सुरक्षा के लिए इंटरनेट मीडिया और ईमेल अकाउंट में टू-फैक्टर आथेंटिकेशन की सुविधा चालू करें और साइबर क्राइम की घटना होने पर तुरंत पुलिस में तुरंत शिकायत दर्ज कराएं.

ज़रूर पढ़ें