Jharkhand News: फ्लोर टेस्ट पहले हैदराबाद में गठबंधन के विधायक, रिजॉर्ट आम लोगों के लिए बैन, हर विधायक के कमरे के बाहर पुलिस तैनात

Jharkhand News: झारखंड के सीएम चंपई सोरेन को उम्मीद है कि वो विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आराम से पास कर लेंगे.

Champai Soren

सीएम हेमंत सोरेन (फोटो- सोशल मीडिया)

Jharkhand News: झारखंड में नए मुख्यमंत्री के तौर पर चंपई सोरेन ने शपथ ले ली है. लेकिन चंपई सोरेन को आगामी 5 फरवरी को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में पास होना होगा. इससे पहले गठबंधन के सभी विधायकों हैदराबाद भेज दिया गया है. सियासी ड्रामे के बीच गठबंधन के करीब 40 विधायकों को तेलंगाना की राजधानी के हैदराबाद में भेजा गया है. उन्हें शुक्रवार को हैदराबाद भेजा गया.

दरअसल, फ्लोर टेस्ट से पहले झारखंड में सत्ताधारी गठबंधन को आशंका है कि उनके गठबंधन के विधायकों को बीजेपी तोड़ सकती है. इस वजह से विधायकों को हैदराबाद भेजा गया है. उन्हें 5 फरवरी को होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले चार फरवरी की रात को रांची बुलाया जाएगा. चंपई सोरेन को उम्मीद है कि वो विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आराम से पास कर लेंगे. हालांकि इससे पहले राज्यपाल को उन्होंने 43 विधायकों के समर्थन वाला पत्र भी दिया था.

विधायकों के लिए कहां है व्यवस्था

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों की मानें तो राज्य के गठबंधन के करीब 40 विधायकों को हैदराबाद भेजा गया है. ये सभी विधायक शुक्रवार की दोपहर करीब दो बजे हैदराबाद के बेगमपेट हवाई अड्डे पर पहुंचे. जहां पहले से तेलंगाना के कांग्रेस प्रभारी दीपा दास मुंशी और राज्य के परिवाहन मंत्री पोन्नम प्रभाकर मौजूद थे. उन्होंने सभी विधायकों का हैदराबाद में स्वागत किया. तेलंगाना में कांग्रेस की सरकार होने की वजह से इन विधायकों को वहां भेजा गया है.

हैदराबाद पहुंचने के बाद विधायकों को लग्जरी बसों से शहर के बाहरी इलाके के शमीरपेट में स्थित ‘लियोनिया होलिस्टिक हेस्टिनेशन’ रिजॉर्ट में भेजा गया है. इस रिजॉर्ट में विधायकों के लिए सभी सुविधाएं हैं. उनके लिए यहां बैठक और कार्यक्रम की भी व्यवस्था की गई है. सूत्रों की माने तो 37 विधायकों को ओहबिज ब्लॉक में रखा गया है. इस ब्लॉक को अन्य लोगों के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: Maharashtra News: वाह रे दबंगई! पुलिस के सामने BJP विधायक ने शिंदे गुट के नेता को मारी गोली, जानें क्या है मामला

इस ब्लॉक में जाने के लिए केवल एक लिफ्ट चल रही है, जिसमें पुलिसकर्मी तैनात हैं. इसी रिजॉर्ट के पहले फ्लोर पर विधायकों के लिए खाने-पीने की व्यवस्था की गई है. 14 मंजिलों वाले इस ब्लॉक में विधायकों के हर कमरे में एक पुलिसकर्मी तैनात है. हालांकि यहां मौजूद विधायकों को अपना मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी गई है. रिजॉर्ट के ओर आने वाली सड़क पर बैरिकेडिंग लगी हुई है.

ज़रूर पढ़ें