MP News: धार भोजशाला में 9वें दिन का ASI सर्वे पूरा, 9 नये सदस्यों की हुई एंट्री

Dhar Bhojshala ASI Survey: 30 मार्च को  सर्वे टीम में 9 नये सदस्यों की एंट्री हुई अब ASI के कुल सदस्यों की संख्या 25 हो चुकी है.

dhar bhojshala team asi

9वें दिन का सर्वें कार्य पूरा कर वापस जाती टीम

भोपाल: धार की भोजशाला सह कमाल मौला मस्जिद में चल रहा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) का 9 वे दिन का सर्वे कार्य ख़त्म हो गया. आज 30 मार्च को  सर्वे टीम में 9 नये सदस्यों की एंट्री हुई अब ASI के कुल सदस्यों की संख्या 25 हो चुकी है. आज रंगपंचमी के बाद भी सर्वे टीम के द्वारा काम किया गया, दिल्ली और भोपाल के अधिकारी सुबह 8 बजे भोजशाला कमाल मौला मस्जिद पहुंचे. वहीं, रंगपंचमी को देखते हुए पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था भोजशाला के बाहर की गई.

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

भोजशाला के सर्वे  परिसर के आसपास पुलिस बल तैनात है. धार कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने भोजशाला  पहुंच कर निरीक्षण किया. साथ ही परिसर के बाहर CSP, DSP, TI सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे.

क्या है पूरा मामला

एएसआई के द्वारा संरक्षित ऐतिहासिक भोजशाला परिसर को हिन्दू पक्ष वाग्देवी (सरस्वती) का मंदिर मानते हैं, जबकि मुस्लिम समुदाय इसे कमाल मौला की मस्जिद बताता है. इसी ‘हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस’ नामक संगठन की याचिका दायर की थी जिसके बाद  हाई कोर्ट की इंदौर पीठ ने 11 मार्च2024 को सुनाए आदेश में कहा था, ‘‘ इस अदालत ने केवल एक निष्कर्ष निकाला है कि भोजशाला मंदिर-सह-कमाल मौला मस्जिद परिसर का जल्द से जल्द वैज्ञानिक सर्वेक्षण और अध्ययन कराना एएसआई का संवैधानिक और कानूनी दायित्व है. इस मामले में अगली सुनवाई 29 अप्रैल को होनी है.

ये भी पढ़े: लोकसभा चुनाव में मुख्यमंत्री मोहन और शिवराज देंगे सुझाव, 20 साल की सरकार में किए कामकाज की दिखेगी घोषणा पत्र में झलक

अवशेषों को संरक्षित किया जा रहा है: गोपाल शर्मा (हिंदू पक्ष)

हिंदू पक्ष के गोपाल शर्मा ने मीडिया को बताया कि अंदर खुदाई के दौरान मिल रहे अवशेषों को संरक्षित किया जा रहा है. कुछ नए स्थानों को चिह्नित किया गया है. संभावना है कि वहां भी खुदाई का काम शुरू होगा. टीम ने 50 मीटर तक की परिधि का मेजरमेंट किया. इमारत के पिछले हिस्से में टीम खुदाई भी कर रही है.

 

ज़रूर पढ़ें