Lok Sabha Elections 2024: एक्टर गोविंदा ने की राजनीतिक वापसी, शिवसेना में हुए शामिल, इस सीट से लड़ सकते हैं चुनाव

अटकलें लगाई जा रही हैं कि शिंदे की पार्टी उन्हें मुंबई उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट से टिकट दे सकती है.

गोविंदा

गोविंदा

Lok Sabha Elections 2024: मुंबई में महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल होने के बाद बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा ने गुरुवार को राजनीतिक वापसी की. अभिनेता ने पहले राम नाइक को हराकर विरार निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीता था. अटकलें लगाई जा रही हैं कि शिंदे की पार्टी उन्हें मुंबई उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट से टिकट दे सकती है.

गोविंदा ने कहा कि उन्हें कभी नहीं लगा कि वह दोबारा उसी क्षेत्र में वापस आएंगे. उन्होंने कहा, “मैं 14 साल के लंबे ‘वनवास’ के बाद राजनीति में वापस आ गया हूं.” अभिनेता ने कहा, ”शिंदे के मुख्यमंत्री बनने के बाद से मुंबई अधिक सुंदर और विकसित दिख रही है.” उन्होंने कहा कि अगर मौका मिला तो वह कला और संस्कृति के क्षेत्र में काम करेंगे.

एनसीपी (शरद पवार) नेता जयंत पाटिल ने गोविंदा के शिंदे खेमे में शामिल होने पर तंज कसा है. उन्होंने कहा, “वह एक लोकप्रिय अभिनेता नहीं हैं. एकनाथ शिंदे को एक ऐसे अभिनेता को लेना चाहिए था जिसकी लोकप्रियता हो. उन्हें एक अच्छे अभिनेता को लेना चाहिए था. मुझे लगता है कि एकनाथ शिंदे फिल्में नहीं देखते हैं.”

यह भी पढ़ें: “लालू जी एक बार विचार कीजिए, यह मेरे लिए आत्महत्या जैसा…”, पूर्णिया सीट पर क्यों अड़े हैं पप्पू यादव?

2009 में छोड़ी थी राजनीति

2004 के लोकसभा चुनाव में गोविंदा ने कांग्रेस के बैनर तले मुंबई उत्तर लोकसभा से चुनाव लड़ा. उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेता राम नाईक को हराया. हालांकि, बाद में गोविंदा ने 2009 के लोकसभा चुनाव में चुनाव न लड़ने का फैसला करते हुए कांग्रेस पार्टी और राजनीति से नाता तोड़ लिया. महाराष्ट्र की 48 सीटों के लिए लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से 20 मई के बीच पांच चरणों में होंगे और वोटों की गिनती 4 जून को होगी.

सीट-बंटवारा महायुति और महा विकास अघाड़ी (एमवीए) दोनों के लिए विवाद का मुद्दा रहा है. एकनाथ शिंदे ने अभी तक भाजपा और अजित पवार के नेतृत्व वाली राकांपा के साथ सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप नहीं दिया है. इस बीच, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने 17 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा के बाद कांग्रेस और राकांपा (शरदचंद्र पवार) दोनों को नाराज कर दिया है.

ज़रूर पढ़ें